पाकिस्तान की पुलिस ने तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) के 100 से अधिक सदस्यों को हिरासत में लिया है. टीएलपी एक चरमपंथी इस्लामिक संगठन है, जिसने ईसाई महिला आसिया बीबी को ईश निंदा मामले में अदालत से मिली रिहाई के खिलाफ रविवार को विरोध प्रदर्शन का ऐलान किया है. पिछले महीने, पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने आसिया बीबी को बरी कर दिया था, जिसके बाद टीएलपी ने बड़े पैमाने पर प्रदर्शन किए थे.

समाचार एजेंसी पीटीआई से बात करते हुए लाहौर पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है, ‘हमने टीएलपी के नेताओं और कार्यकर्ताओं समेत 100 से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया है. गिरफ्तार लोगों में संगठन के प्रमुख खादिम हुसैन रिजवी भी शामिल हैं.’ सरकारी अधिकारियों की एक टीम ने खादिम हुसैन से बातचीत करके उन्हें 25 नवंबर का प्रदर्शन टालने को कहा था, लेकिन उन्होंने इससे इनकार कर दिया था.

वहीं पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने इस मामले में ट्वीट करते हुए कहा है, ‘खादिम हुसैन रिजवी को पुलिस ने लाहौर से हिरासत में लिया है. यह कार्रवाई 25 नवंबर के विरोध-प्रदर्शन को रोकने से उनके इनकार करने के बाद की गई है. यह कदम लोगों की जिंदगी और संपत्ति की सुरक्षा और कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए उठाया गया है.’