मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस के नेताओं के बीच चल रही जुबानी जंग ‘पौराणिक किरदारों’ से आगे बढ़कर अब मुस्लिम धार्मिक किरदारों और हिंदू देवताओं तक पहुंच गई है. इस क्रम में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ पर निशाना साधते हुए भाजपा के स्टार प्रचारक योगी आदित्यनाथ ने कहा है, ‘आपको आपके अली मुबारक हों, हमारे लिए बजरंग बली पर्याप्त हैं.’

एनडीटीवी के मुताबिक योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा, ‘मैं हाल ही में कमलनाथ का एक बयान पढ़ रहा था जिसमें उन्होंने कहा था कि कांग्रेस पार्टी को अनुसूचित जाति व जनजाति के लोगों के वोट नहीं चाहिए. कांग्रेस को सिर्फ मुसलमानों का वोट चाहिए. इसलिए मैं कहता हूं अली को आप अपने पास रखें, हमारे लिए बजरंग बली काफी हैं.’ हजरत अली को शिया पहले इमाम के रूप में मानते हैं और मुस्लिम समुदाय उन्हें चौथे खलीफा का दर्जा देता है.

इससे पहले इसी हफ्ते कमलनाथ का एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें वे कथिततौर पर यह कहते हुए देखे गए थे कि ‘अगर चुनावों में मुस्लिम समाज के 90 फीसदी वोट नहीं पड़े तो इससे कांग्रेस को बड़ा नुकसान हो सकता है.’ उस वीडियो के वायरल होने के बाद भाजपा ने कांग्रेस पर मुसलमान वोट हासिल करने के लिए हथकंडों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया था. साथ ही चुनाव आयोग से भी इस बाबत शिकायत की थी.

वैसे धार्मिक किरदारों को लेकर मध्य प्रदेश के इस विधानसभा चुनाव में भाजपा व कांग्रेस के बीच पहले भी तीखी बयानबाजी हो चुकी है. इससे पहले कांग्रेस के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तुलना महाभारत काल के ‘कंस’ और ‘श​कुनि’ के साथ करते हुए उन्हें कलयुगी ‘मामा’ बताया था. मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान ‘मामा’ के नाम से लोकप्रिय हैं.

उधर, शुक्रवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए शिवराज सिंह चौहान ने पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को परदेसी बताया था. साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि राज्य विधानसभा चुनाव के मतदान होने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष प्रदेश में दिखाई भी नहीं देने वाले. इसके बाद राज्य के लोगों के लिए यहां का ‘मामा’ (शिवराज सिंह चौहान) ही काम आएगा.