पूर्वी सीरिया में इस्लामिक स्टेट समूह के हमलों में बीते दो दिन के दौरान 47 अमेरिकी समर्थक लड़ाके मारे गए हैं. इस इलाके में अमेरिकी समर्थक सीरियन डेमोक्रेटिक फोर्सेज (एसडीएफ) और आईएस लड़ाकों के बीच संघर्ष चल रहा है.

पीटीआई के मुताबिक, सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने कहा, ‘जिहादियों ने शनिवार को तीन अलग अलग हमले किए हैं.’ निगरानी समूह ने कहा कि ये हमले अल-बाहरा, गारानिज के गांवों और अल तानक तेलक्षेत्र के नजदीक एक इलाके को निशाना बनाकर किए गए, जो व्यावसायिक रूप से सक्रिय होने के साथ ही सीरियन डेमोक्रेटिक फोर्सेज (एसडीएफ) का एक सैन्य ठिकाना भी है.

एसडीएफ के प्रवक्ता मुस्तफा बाली ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि पूरे दिन चली लड़ाई के दौरान इस्लामिक स्टेट ने इन तीन इलाकों में सिलसिलेवार हमले किए हैं. संगठन के प्रमुख रामी अब्देल रहमान ने कहा कि अकेले शनिवार को ही एसडीएफ के 29 लड़ाके मारे गए जिससे दो दिन के दौरान लड़ाई में मरने वालों की तादाद 47 हो गई है. कुर्द नेतृत्व वाला गठबंधन सीरियन डेमोक्रेटिक फोर्सेज (एसडीएफ) इराकी सीमा पर डेर एजोर प्रांत में जिहादियों को खदेड़ने की कोशिश में जुटी है. इसे अमेरिकी नेतृत्व वाले गठबंधन का समर्थन है.