केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने नई सीरीज के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के आंकड़े जारी होने के बाद कांग्रेस के हमलों पर प्रतिक्रिया दी है. एनडीटीवी के मुताबिक वित्त मंत्री ने कांग्रेस पर दोहरा रवैय्या अपनाने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि जब नए मापदंडों पर जीडीपी डेटा की नई सीरीज की शुरुआत हुई तो इसके दायरे में यूपीए सरकार के आखिरी दो साल आए थे और इन दोनों वर्षों के दौरान पहले के मुकाबले जीडीपी डेटा में वृद्धि की गई थी. अरुण जेटली का कहना था कि तब कांग्रेस ने अपनी पीठ थपथपाते हुए कहा था कि उसकी सरकार में देश की अर्थव्यवस्था ने जबरदस्त गति पकड़ी. वित्त मंत्री ने कहा कि अब जब इसी पैमाने पर उसके पूरे कार्यकाल का आकलन किया जा रहा है तो कांग्रेस के नेता सवाल उठा रहे हैं. अरुण जेटली के मुताबिक नई सीरीज को विश्व में सबसे अच्छे मापदंडों के मुताबिक तैयार किया गया है.

इससे पहले यूपीए सरकार के समय के जीडीपी आंकड़ों को बदलकर दोबारा से जारी करने पर कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली पर निशाना साधा था. पार्टी ने उन पर अर्थव्यवस्था की खराब स्थिति को छुपाने के लिए चालाकी करने का आरोप लगाया था. इन आंकड़ों में बताया गया है कि साल 2014 से 2018 के बीच यानी एनडीए के पहले चार साल में विकास की रफ्तार यूपीए के दौर से ज्यादा रही है. यूपीए के 10 साल में इसका औसत जहां 6.7 फीसदी रहा वहीं एनडीए के पहले चार साल में यह आंकड़ा 7.3 फीसदी रहा है. जीडीपी के ये संशोधित आंकड़े बुधवार को नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार और मुख्य सांख्यिकीविद प्रवीण श्रीवास्तव ने जारी किए थे.