हिंदी सिनेमा और भारतीय रंगमंच के प्रमुख स्तंभों में शुमार किए जाने वाले पृथ्वीराज कपूर की पुश्तैनी हवेली को पाकिस्तान की सरकार ने संग्रहालय का रूप देने की योजना बनाई है. एनडीटीवी के मुताबिक पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा है कि बॉलीवुड के जाने-माने अभिनेता व पृथ्वीराज कपूर के पोते और राज कपूर के बेटे ऋषि कपूर ने इस बाबत पाकिस्तान सरकार से गुजारिश की थी जिसके बाद यह फैसला किया गया है.

उधर, पाकिस्तान के इंटीरियर मिनिस्टर (गृह मंत्री) शहरयार खान अफरीदी के मुताबिक ऋषि कपूर ने बीते दिनों उनके साथ टेलीफोन पर बातचीत करके अपनी पुश्तैनी हवेली को संग्रहालय या फिर किसी संस्थान का रूप देने की गुजारिश की थी. उनकी इस गुजारिश को पाकिस्तान सरकार ने सकारात्मक तौर पर लिया है.

पृथ्वीराज कपूर की यह हवेली पेशावर के किस्सा ख्वानी बाजार इलाके में स्थित है जिसे उनके पिता दीवान बशेस्वरनाथ कपूर ने बनवाया था. पृथ्वीराज कपूर के बेटे और हिंदी सिनेमा के शोमैन राज कपूर का जन्म 14 दिसंबर, 1924 के दिन इसी हवेली में हुआ था. हालांकि बंटवारे के बाद कपूर परिवार पाकिस्तान को छोड़कर भारत आन बसा था. मूक फिल्मों से अपना फिल्मी सफर शुरू करने वाले पृथ्वीराज कपूर को भारतीय जन नाट्य संघ (इप्टा) के संस्थापक सदस्यों में से एक होने का गौरव भी हासिल है.