भारतीय महिला क्रिकेट टीम की वरिष्ठ खिलाड़ी मिताली राज और कोच रमेश पोवार के बीच मतभेद सामने आने के बाद बीसीसीआई ने नए कोच के लिए आवेदन मांगे हैं. पीटीआई के मुताबिक शुक्रवार को क्रिकेट बोर्ड की ओर से यह जानकारी दी गई है.

बीसीसीआई द्वारा जारी की गई एक विज्ञप्ति में कहा गया है, ‘कोच पद के उम्मीदवार में विभिन्न पृष्ठभूमि और संस्कृतियों के लोगों के साथ सामंजस्य बैठाने और बातचीत करने की क्षमता होनी चाहिए. उसने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत या किसी अन्य देश का प्रतिनिधित्व किया हो या उसके पास कोचिंग में एनसीए लेवल ‘सी’ का प्रमाण पत्र या इसी स्तर की किसी संस्था का प्रमाण पत्र और कम से कम 50 प्रथम श्रेणी मैचों का अनुभव होना चाहिए.’ इसके अलावा उम्मीदवार कम से कम एक सत्र तक किसी अंतरराष्ट्रीय टीम का कोच रहा हो या उसके पास किसी टी20 फ्रेंचाइजी को दो सत्र तक कोचिंग देने का अनुभव हो.

बीसीसीआई के मुताबिक इस पद के लिए 20 दिसंबर को मुंबई स्थित बोर्ड के मुख्यालय में साक्षात्कर होगा. यह नियुक्ति पूर्णकालिक होगी और अनुबंध दो साल के लिए होगा. पीटीआई ने बोर्ड की सूत्रों के हवाले से बताया है कि अंतरराष्ट्रीय बोर्ड क्रिकेट में खुद को साबित कर चुके टॉम मूडी, डेव वाटमोर और वेंकटेश प्रसाद के नामों पर विचार कर रहा है.

बीसीसीआई के द्वारा महिला क्रिकेट टीम के नए कोच के लिए आवेदन मांगे जाने के बाद यह साफ़ हो गया है कि वर्तमान कोच रमेश पोवार अब इस पद पर नहीं रहेंगे. बोर्ड से जुड़े सूत्रों की मानें तो टी20 विश्व कप में हुए विवाद के सार्वजनिक होने बाद ही बीसीसीआई ने पोवार के साथ अनुबंध आगे न बढ़ाने का मन बना लिया था. बतौर मुख्य कोच रमेश पोवार का कार्यकाल 30 नवंबर को खत्म हो रहा है.

इसी महीने वेस्टइंडीज में हुए टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल मुकाबले में मिताली राज को अंतिम ग्यारह में जगह न देने के कारण टीम में विवाद पैदा हुआ था. मिताली ने आरोप लगाया था कि पोवार उन्हें बर्बाद करना चाहते हैं जबकि कोच ने उनके रवैये पर सवाल उठाये थे. पोवार की नियुक्ति अगस्त में हुई थी जब तुषार अरोठे ने सीनियर खिलाड़ियों के साथ मतभेद के कारण पद छोड़ दिया था.