फसलों की सही कीमत के लिए स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने और कर्जमाफी की मांग लेकर देश भर के किसानों ने शुक्रवार को दिल्ली स्थित संसद मार्ग पर प्रदर्शन किया. इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित विपक्ष के अन्य नेताओं ने किसानों के साथ एकजुटता दिखाई. इस खबर को आज के अधिकतर अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. विपक्षी दलों के नेताओं ने किसानों को भरोसा दिया है कि वे इन मांगों को 2019 के चुनावी घोषणापत्र में जगह देंगे. साथ ही, केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को किसान विरोधी भी बतायाा गया है.

उपेंद्र कुशवाहा का एनडीए से अलग होना लगभग तय

केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी राष्ट्रीय लोक समता दल (आरएलएसपी) का राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) से अलग होना करीब-करीब तय हो गया है. नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक उपेंद्र कुशवाहा ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने का वक्त मांगा था. लेकिन, भाजपा नेतृत्व द्वारा इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई. भाजपा का कहना है कि आरएलएसपी को बिहार में लोकसभा चुनाव के लिए जितनी सीटें दी गई हैं, उससे अधिक नहीं दी जा सकतीं. एनडीए की घटक जेडीयू ने भी उपेंद्र कुशवाहा को अधिक मौके नहीं देने की बात कही है. इसके बाद जैसा कि अखबार ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि आरएलएसपी की छह दिसंबर की बैठक में एनडीए से अलग होने का ऐलान कर सकती है.

महाराष्ट्र : मराठा आंदोलन और भीमा-कोरेगांव हिंसा के दौरान दर्ज मामले वापस लेने का ऐलान

महाराष्ट्र की भाजपा सरकार ने मराठा आंदोलन और भीमा-कोरेगांव हिंसा के दौरान दर्ज मुकदमे वापस लेने का ऐलान किया है. अमर उजाला में प्रकाशित खबर के मुताबिक मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इसकी जानकारी दी. उन्होंने कहा, ‘मराठा आंदोलन के वक्त दर्ज किए गए 534 मामलों में से 46 गंभीर अपराधाें को छोड़कर बाकी सभी मामलों को रद्द करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.’ एेसे ही, भीमा-कोरेगांव हिंसा मामले में भी 63 गंभीर मामलों को छोड़कर अन्य को वापस लेने की बात कही गई है. साथ ही, सरकार मराठा आंदोलन के दौरान खुदकुशी करने वालों के परिजनों को आर्थिक मदद भी मुहैया कराएगी.

अभिनव बिंद्रा को निशानेबाजी का सर्वोच्च सम्मान

भारत के शीर्ष निशानेबाज अभिनव बिंद्रा को आईएसएसएफ ब्लू क्रॉस सम्मान से नवाजा गया है. निशानेबाजी की शीर्ष संस्था आईएसएसएफ द्वारा उत्कृष्ट योगदान के लिए दिए जाने वाले इस सम्मान को हासिल करने वाले बिंद्रा पहले भारतीय हैं. राजस्थान पत्रिका की खबर के मुताबिक यह सम्मान हासिल करने के बाद उन्होंने कहा, ‘मैं इस शीर्ष अवॉर्ड को पाकर सम्मानित महसूस कर रहा हूं. एथलीटों और आईएसएसएफ के लिए काम करना काफी अच्छा रहा है.’ अभिनव बिंद्रा अपने करियर में एक ओलंपिक गोल्ड मेडल और एक बार वर्ल्ड चैंपियनशीप जीत चुके हैं. उनकी सूची में सात कॉमनवेल्थ गेम्स मेडल और तीन एशियन गेम्स मेडल भी शामिल है.