विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के एक बयान पर पलटवार करते हुए उन पर निशाना साधा है. एबीपी न्यूज के मुताबिक जयपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए सुषमा स्वराज ने कहा, ‘राहुल गांधी और उनकी पार्टी धर्म व जाति को लेकर भ्रम की स्थिति में है. कांग्रेस ने सालों से राहुल गांधी को एक धर्मनिरपेक्ष नेता के तौर पर पेश किया पर चुनाव आते ही उन्हें लगा कि हिंदू तो बहुसंख्यक हैं इसलिए अब उनकी छवि एक हिंदू नेता के तौर पर बनाने की कोशिश की जा रही है.’

सुषमा स्वराज ने आगे कहा, ‘कांग्रेस की तरफ से हाल में बयान आया था कि राहुल गांधी जनेऊधारी ब्राह्मण हैं. मुझे नहीं मालूम कि जनेऊधारी ब्राह्मण के ज्ञान में इतनी वृद्धि हो गई है कि हिंदू होने का मतलब अब हमें उनसे समझना होगा. भगवान न करे कि ऐसा भी कोई दिन आए जब हमें राहुल गांधी से हिंदू होने का अर्थ जानना पड़े.’

खबरों के मुताबिक इस दौरान केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने भी कांग्रेस अध्यक्ष के इस बयान की आलोचना की है. इसके साथ ही राहुल गांधी को ‘कन्फ्यूज्ड गांधी’ बताते हुए रविशंकर प्रसाद ने कहा है, ‘कांग्रेस अध्यक्ष प्रतिबद्धताओं से नहीं बल्कि राजनीतिक वजहों से हिंदू होने का दिखावा करते हैं. वे प्रतिबद्धतावश नहीं बल्कि राजनीतिक कारणों से हिंदू हैं.’

इससे पहले शनिवार को ही राहुल गांधी ने राजस्थान के उदयपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हिंदुत्व के मुद्दे को लेकर निशाना साधते हुए कहा था, ‘हिंदुत्व के सार का ज्ञान हर किसी को है. ज्ञान हर जगह फैला हुआ है. हर जीवित वस्तु के भीतर ज्ञान आलोकित है. हमारे प्रधानमंत्री कहते हैं कि वे हिंदू हैं लेकिन वे हिंदुत्व की बुनियाद को नहीं समझते.’ इसके साथ ही उन्होंने नरेंद्र मोदी के हिंदू होने पर सवाल उठाया था.