कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को अपना ‘कप्तान’ बताए जाने के बाद से ही पंजाब की अंदरूनी सियासत गर्म है. इस दौरान एनडीटीवी ने लिखा है कि कांग्रेस हाईकमान ने नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के विरोध में कोई बयान न देने की ‘नसीहत’ दी है. इसके साथ ही पार्टी ने उनसे यह भी कहा है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ही उनके कप्तान हैं.

इस दौरान कांग्रेस का प्रचार करने के लिए सोमवार को राजस्थान के झालावाड़ पहुंचे नवजो​त सिंह सिद्धू ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कैप्टन अमरिंदर को एक बार फिर अपने पिता समान बताया. साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘मैं अमरिंदर सिंह को बहुत प्यार और उनका सम्मान करता हूं. उनके साथ आपसी मुद्दों को मैं अपनेआप सुलझा लूंगा.’

इससे पहले बीते हफ्ते पाकिस्तान की यात्रा से लौटने के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में नवजोत सिंह सिद्धू ने एक सवाल का जवाब देते हुए अपना और ‘कैप्टन’ का कप्तान राहुल गांधी को बताया था. दिलचस्प बात यह है कि ‘कैप्टन’ से उनका इशारा अमरिंदर सिंह की तरफ था क्योंकि प्रदेश में वे ‘कैप्टन’ के नाम से मशहूर हैं. उनके इस बयान के बाद से ही पंजाब के कई कांग्रेसी नेता सिद्धू से उनके इस्तीफे की मांग की है.

उधर, नवजोत सिंह सिद्धू के इस बयान पर विरोध जताते हुए पंजाब के लुधियाना में कैप्टन अमरिंदर सिंह के समर्थन में होर्डिंग भी लगाई हैं. इन होर्डिंग्स में ‘पंजाब द कैप्टन साडा कैप्टन’ यानी पंजाब का कैप्टन ही उनका कैप्टन है का संदेश लिखा गया है.