‘करतारपुर कॉरिडोर कोई गुगली नहीं थी.’  

— इमरान खान, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री

इमरान खान का यह बयान अपने ही देश के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के एक बयान का खंडन करते हुए आया है. इमरान खान के मुताबिक भारत और पाकिस्तान की सीमा पर स्थित दो गुरुद्वारों को जोड़ने वाला करतारपुर कॉरिडोर कोई ‘गुगली’ (कूटनीति) नहीं बल्कि एक सीधा-सादा फैसला था. इससे पहले बीते हफ्ते इस कॉरिडोर के शिलान्यास के मौके पर शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि पाकिस्तान से बातचीत करने के लिए भारत तैयार नहीं हो रहा था. लेकिन इमरान खान ने एक ऐसी ‘गुगली’ फेंकी कि भारत सरकार को अपने दो केंद्रीय मंंत्रियों को पाकिस्तान भेजना पड़ा.

‘जस्टिस कुरियन जोसेफ द्वारा लगाए गए आरोपों की न्यायिक जांच कराई जानी चाहिए.’  

— अभिषेक मनु सिंघवी, कांग्रेस के प्रवक्ता

अभिषेक मनु सिंघवी का यह बयान सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जस्टिस कुरियन जोसेफ के एक बयान पर आया है. उनके मुताबिक कांग्रेस ने पहले ही देश की शीर्ष अदालत में सब कुछ ठीक-ठाक न चलने को लेकर अंदेशा जताया था और यह बात उनके ताजा बयान से साबित हो गई है. इससे पहले एक साक्षात्कार में जस्टिस जोसेफ ने कहा था कि शीर्ष अदालत के चार जजों को लगा था कि सुप्रीम कोर्ट के तत्कालीन चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा को कोई बाहर से नियंत्रित कर रहा है. ऐसे में उनकी कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए चार जजों ने न्यायपालिका को बचाने की गुहार लगाई थी.


‘कांग्रेस के नेता जितना ज्यादा कीचड़ उछालेंगे उतना ही ज्यादा कमल खिलेगा.’  

— नरेंद्र मोदी, भाारत के प्रधानमंत्री

नरेंद्र मोदी ने यह बात राजस्थान के जोधपुर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेसी नेताओं को लगता है कि राजस्थान की जनता हर पांच साल पर सत्ताधारी पार्टी की सरकार बदल देती है पर उन्हें यह नहीं भूलना चाहिए कि भैरो सिंह शेखावत इसी प्रदेश में लगातार दो बार चुनाव जीते थे. इसके साथ ही हिंदुत्व के मुद्दे को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि ये वही पार्टी है जिसने शीर्ष अदालत के सामने भगवान राम को काल्पनिक पात्र बताया था.


‘केंद्र सरकार को आठ महीने पहले ही जानकारी मिल गई थी नीरव मोदी देश छोड़कर भागने वाला है.’  

— रणदीप सिंह सुरजेवाला, कांग्रेस के प्रवक्ता

रणदीप सिंह सुरजेवाला का यह बयान वित्त मंत्री अरुण जेटली पर निशाना साधते हुए आया है. इसके साथ ही सवालिया लहजे में उन्होंने यह भी कहा है कि अगर जून 2017 में इनकम टैक्स विभाग के पास बैंकों से धोखाधड़ी करने वाले नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के बारे में जानकारी थी तो मई 2018 में ये दोनों देश छोड़कर भागने में कैसे कामयाब हो गए. उन्होंने आगे कहा इन्हें भागने देने में केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के चेयरमैन सुशील चंद्रा की भूमिका भी संदेहजनक है. सुरजेवाला के मुताबिक इंटरपोल से नीरव मोदी की गिरफ्तारी का वारंट जारी होने के बावजूद सरकार उसे स्वदेश लाने में कामयाब नहीं हो पाई है.


‘हिंदुस्तान मेरे बाप का मुल्क है और कोई मुझे यहां से नहीं भगा सकता.’  

— असदुद्दीन ओवैसी, आॅल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख

असदुद्दीन ओवैसी का यह बयान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के एक बयान पर पलटवार करते हुए आया है. इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए उन्होंने यह भी कहा है कि योगी आदित्यनाथ को अपने राज्य की फिक्र करनी चाहिए जहां के अस्पतालों में बच्चे आॅक्सीजन की कमी से मर जाते हैं. इससे पहले योगी आदित्यनाथ ने एक रैली में कहा था कि तेलंगाना में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार बनी तो असदुद्दीन ओवैसी को राज्य से वैसे ही भागना पड़ेगा जैसे यहां के निजाम भागे थे.


‘आॅस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को जीत हासिल करने के लिए विराट कोहली को रोकना होगा.’  

— रिकी पॉन्टिंग, आॅस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान

रिकी पॉन्टिंग का यह बयान भारत-आॅस्ट्रेलिया के बीच आगामी छह दिसंबर से शुरू होने वाली टेस्ट मैचों की सीरीज को लेकर आया है. उनका यह भी कहना है आॅस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को अपने शारीरिक हाव-भावों के जरिये विराट कोहली की एकाग्रता तोड़ने की कोशिश करनी चाहिए. रिकी पॉन्टिंग के मुताबिक, ‘मैंने खुद कोहली को कई बार परेशान होते हुए देखा है. इसलिए मैं किसी आॅस्ट्रेलियाई खिलाड़ी को आक्रामक क्रिकेट खेलने की ही सलाह दूंगा.’