भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने देश के सबसे भारी उपग्रह ‘जीसैट-11’ को सफलतापूर्वक लॉन्च कर दिया गया है. बुधवार तड़के दो बजे फ्रांस के फ्रेंच गुयाना प्रक्षेपण केंद्र से अंतरिक्ष में भेजा गया.

फ्रांसीसी अंतरिक्ष एजेंसी एरियनस्पेस के एरियन-5 रॉकेट की मदद से ‘जीसैट-11’ को प्रक्षेपित किया गया. इसका वजन करीब 5,854 किलोग्राम है. यह उपग्रह देशभर में बेहतर ब्रॉडबैंड सेवाएं (इंटरनेट) उपलब्ध करवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा. संचार के क्षेत्र में सरकार के महत्वाकांक्षी लक्ष्य को प्राप्त करने के उद्देश्य से प्रक्षेपित किए जाने वाले चार उपग्रहों की श्रृंखला में जीएसएटी-11 तीसरा उपग्रह है.

इसरो के चेयरमैन के सिवान ने इस प्रक्षेपण के बाद बताया, ‘भारत द्वारा बनाए सबसे भारी, सबसे बड़े और सबसे शक्तिशाली उपग्रह को आज एरियन-5 से सफलतापूर्वक लॉन्च किया गया. जीसैट -11 भारत के लिए ‘सबसे समृद्ध अंतरिक्ष संपत्ति’ साबित होगा. इस उपग्रह में 38 स्पॉट बीम के साथ-साथ आठ सब-बीम हैं, जो देश के साथ-साथ दूरदराज के इलाकों को कवर करेंग. और यह उपग्रह देशभर में 16 जीबीपीएस (गीगा बाइट पर सेकेंड) की स्पीड ने इंटरनेट सेवाएं प्रदान करेगा.’