केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने गुरुवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से अपील की कि वे जनेऊ की लाज बचाने और दत्तात्रेय कौल ब्राह्मणों के सम्मान में आगे आकर राम मंदिर के निर्माण में समर्थन दें.

उमा भारती ने संवाददाताओं से कहा, ‘यह मामला ऐसा है, जिसमें सामंजस्य का महौल पहले बनाना होगा, इसके प्रयास चल भी रहे हैं. लेकिन कांग्रेस की तैयारी माहौल बिगाड़ने की है और यह पार्टी मंदिर निर्माण में अड़चन है.’ उन्होंने दावा किया कि अगर कांग्रेस का रूख राम मंदिर के निर्माण पर सकारात्मक होता तो जवाहर लाल नेहरू के समय में ही इसका निर्माण हो गया होता.

उमा भारती ने कहा कि अब उन्हें उम्मीद जगी है क्योंकि पहली बार कांग्रेस का कोई नेता अपने को दत्तात्रेय कौल ब्राह्मण बता रहा है. उमा भारती ने कहा कि अब राहुल गांधी पर जिम्मेदारी है कि वे जनेऊ की लाज बचाने और दत्तात्रेय कौल ब्राह्मण के सम्मान में आगे आएं और राम मंदिर के निर्माण के लिये अपने समर्थन की घोषणा करें. ऐसा करने से इस मुद्दे पर कोई राजनीति नहीं होगी और कोई श्रेय लेने की बात भी नहीं कर पायेगा.

उमा ने कहा, ‘राहुल गांधी राम मंदिर के निर्माण के संदर्भ में प्रधानमंत्री से कहें कि वे इस विषय पर अध्यादेश के समर्थन में हैं.’ अयोध्या आंदोलन से जुड़ी प्रमुख नेताओं में शामिल उमा भारती ने कहा कि अगर राम मंदिर निर्माण के मुद्दे पर राहुल गांधी, अखिलेश यादव, मायावती, ममता बनर्जी सहित कम्युनिस्ट पार्टी साथ आ जाएं तो देशहित में इससे बड़ा कोई कदम नहीं हो सकता है.