विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि भारत उम्मीद कर रहा है कि पाकिस्तान ‘करतारपुर कॉरिडोर’ पर अपनी घोषणा पूरी करेगी. इसके साथ ही उन्होंने इस मामले को पाकिस्तान द्वारा राजनीतिक बनाए जाने को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा है, ‘हम इसे सिख समुदाय द्वारा लंबे अरसे की जा रही मांग को पूरी किए जाने की से देखते हैं. यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि पाकिस्तान ने धार्मिक मुद्दे को राजनीतिक बनाने का प्रयास किया. हमें उम्मीद है कि करतारपुर कॉरिडोर के संबंध में पाकिस्तान अपनी सभी घोषणाओं को पूरा करेगा.’

इस दौरान अगस्ता वेस्टलेंड मामले में कथित मध्यस्थ क्रिश्चियन मिशेल के प्रत्यर्पण पर रवीश कुमार ने बताया कि उसे सभी कानूनी प्रक्रियाओं को पूरा करने के बाद भारत लाया गया है. रवीश कुमार के मुताबिक, ‘सभी उचित प्रक्रियाओं का पालन करने और सभी न्यायिक प्रक्रियाओं को पूरा करने के बाद ही क्रिश्चियन मिशेल को भारत लाया गया है. ये मामला सीबीआई (केंद्रीय जांच एजेंसी) देख रही थी. यह भारत और संयुक्त अरब अमीरात के बीच सहयोग का एक उदाहरण है.’

ईरान के चाबहार में हुए आतंकी हमले की निंदा करते हुए विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, ‘हम ईरान सरकार और पीड़ितों के परिवारों के लिए शोक व्यक्त करते हैं. अपराधियों को जल्दी से जल्दी न्याय के दायरे में लाया जाना चाहिए.’