राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने उनके खिलाफ शरद यादव की टिप्पणी को महिलाओं का अपमान बताया है. गुरुवार को राजस्थान के अलवर में आयोजित एक चुनावी कार्यक्रम में शरद यादव ने वसुंधरा राजे के लिए कहा था कि वे बहुत ‘मोटी’ हो गई हैं. उनके बयान पर आज प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि निर्वाचन आयोग को इस पर कार्रवाई करनी चाहिए. पीटीआई की खबर के मुताबिक आज झालावाड़ में मतदान करने के बाद संवाददाताओं से बातची में वसुंधरा राजे ने कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव का बयान ‘उनका और विशेष रूप से महिलाओं का अपमान है.’

खबर के मुताबिक राजे ने कहा, ‘मैं पूरी तरह हतप्रभ रह गई. मुझे नहीं लगता है कि इतने लंबे अनुभव वाला और हमारे परिवार से करीबी ताल्लुकात रखन वाला कोई भी नेता अपनी वाणी पर संयम नहीं रख पाएगा. इससे बुरी बात और क्या हो सकती है?’ राजे ने कहा कि निर्वाचन आयोग को इस तरह के बयानों पर संज्ञान लेना चाहिए ताकि सुनिश्चित किया जा सके कि भविष्य में कोई ऐसी भाषा का इस्तेमाल न करे. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि इस तरह की भाषा से युवा पीढ़ी को कोई अच्छा संदेश नहीं जाता है. उन्होंने कहा, ‘यह भाषा तो कोई भी इस्तेमाल कर सकता है लेकिन, भाजपा नेताओं के मुंह से तो सुनने को नहीं मिलती. कांग्रेस व उसके सहयोगी दल के मुंह से क्यों सुनने को मिलता है.’