केंद्र सरकार ने डॉक्टर कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम को मुख्य आर्थिक सलाहकार (सीईए) नियुक्त किया है. एनडीटीवी के मुताबिक इस पद पर उनकी यह नियुक्ति तीन वर्षों के लिए की गई है. कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम इस समय ‘इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस’ हैदराबाद के सहयोगी प्रोफेसर और कार्यकारी निदेशक हैं. उन्हें बैंकिंग, कॉरपोरेट और आ​र्थिक नीतियों का विशेषज्ञ माना जाता है.

इंडियन इंस्टीट्यूट आॅफ मैनेजमेंट (आईआईएम) कोलकाता से एमबीए और शिकागो यूनिवर्सिटी से पीएचडी करने वाले कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड आॅफ इंडिया (सेबी) और रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया (आरबीआई) की कई समितियों में शामिल रह चुके हैं. इसके अलावा उन्होंंने बंधन बैंक के बोर्ड को भी अपनी सेवाएं दी हैं.

इससे पहले इसी साल जून में अरविंद सुब्रमण्यम के इस्तीफा देने के बाद मुख्य आर्थिक सलाहकार का पद खाली हो गया था. हालांकि उनका कार्यकाल मई 2019 तक का था. अक्टूबर 2014 में इस पद पर आसीन होने वाले अरविंद सुब्रमण्यम ने तब इस्तीफे के पीछे निजी वजहों को बताया था. उधर, बीते महीने एक कार्यक्रम में नोटबंदी पर राय जाहिर करते हुए उन्होंने इस फैसले को आर्थिक विकास की दर धीमी करने वाला बताया था. उनका यह भी कहना था कि उस फैसले को लेकर उनसे कोई मशविरा नहीं किया गया था.