पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत की सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधा है. इमरान खान ने भाजपा को मुस्लिम और पाकिस्तान विरोधी पार्टी बताया है.

पीटीआई के मुताबिक गुरूवार को वाशिंगटन पोस्ट को दिए एक साक्षात्कार में उनका कहना था, ‘भारत में चुनाव आने वाले हैं. वहां के सत्ताधारी दल का रुख मुस्लिम और पाकिस्तान विरोधी है. उन्होंने मेरी सभी पहलों को खारिज कर दिया...अब हम यह उम्मीद करते हैं कि चुनावों के खत्म होने के बाद भारत के साथ वार्ता शुरू हो पाएगी.’

साक्षात्कार के दौरान इमरान खान ने 2008 के मुंबई हमले पर पाकिस्तान की ओर से की जा रही कार्रवाई के बारे में भी जानकारी दी. उनके मुताबिक उनकी सरकार 2008 के मुंबई हमले के साजिशकर्ताओं को इंसाफ के कठघरे में लाना चाहती है और ऐसा करने में पाकिस्तान का भी हित है. उनका कहना था, ‘मैंने अपनी सरकार से मामले की स्थिति के बारे में पता करने को कहा है. यह मामला हमारे हित में है क्योंकि यह आतंकवादी कृत्य था.’

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री द्वारा मुंबई हमले को लेकर दिए गए इस बयान के बाद पाकिस्तान को लेकर भारत के रुख में कुछ नरमी आने की उम्मीद की जा रही है. दरअसल, पिछले महीने करतारपुर गलियारे की नींव रखने के बाद इमरान ने भारत से सकारात्मक प्रतिक्रिया मिलने की उम्मीद जताई थी. इससे पहले बीते अगस्त में भी इमरान खान ने कहा था कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ शांति वार्ता के लिये तैयार हैं. लेकिन भारत ने हर बार बातचीत की संभावनाओं से इनकार करते हुए स्पष्ट कर दिया कि बातचीत और आतंकवाद एक साथ नहीं चल सकते.