बुलंदशहर हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या में संदिग्ध आरोपित सेना के जवान को उत्तर प्रदेश पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. जवान का नाम ‘जितेंद्र मलिक’ उर्फ ‘जीतू फौजी’ बताया जा रहा है. इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक सेना ने जीतू को सूचना मिलने पर हिरासत में ले लिया था जिसे शनिवार को पुलिस के हवाले कर दिया गया. जीतू जम्मू-कश्मीर के सोपोर में 22 राष्ट्रीय राइफल्स में तैनात था.

जीतू को हिंसा वाले दिन घटनास्थल पर फायरिंग करते हुए देखा गया था. उसका नाम पुलिस में दर्ज़ प्राथमिकी में भी है. इसी दौरान एक अन्य युवक सुमित की भी मौत हो गई थी. इस मामले की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) का मानना है कि सुमित और इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की मौत एक ही पिस्टल की गोली लगने से हुई है. ख़बरों के मुताबिक घटना के बाद छुट्टी पर घर आया जीतू जम्मू-कश्मीर भाग गया था.

ग़ौरतलब है कि बीते सोमवार को बुलदंशहर में गोहत्या की खबर के बाद उग्र हुई भीड़ ने इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह पर हमला कर दिया था. उनकी अस्पताल पहुंचाए जाने से पहले ही मौत हो गई. पुलिस अब तक इस मामले से जुड़े चार लोगों को गिरफ्तार भी कर चुकी है.