तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) ने अब आंध्र प्रदेश और तेलंगाना की सीमाओं से बाहर निकलने का फ़ैसला किया है. इसके तहत अगले साल पार्टी ओडिशा विधानसभा चुनाव में अपने प्रत्याशी उतारेगी. साथ ही लोक सभा चुनाव के दौरान भी इस राज्य में अपने उम्मीदवार खड़े करेगी.

टीडीपी के प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने यह फ़ैसला किया है. टीडीपी के ओडिशा प्रभारी राजेश पुत्रा ने कोरापुट में मीडिया को बताया कि उनकी पार्टी राज्य की 52 विधानसभा और पांच लोक सभा सीटाें पर अपने उम्मीदवार खड़े करेगी. टीडीपी ओडिशा के ख़ास तौर पर उन इलाकों पर ध्यान देगी जहां तेलुगुभाषी लोग अच्छी संख्या में रहते हैं. इन जगहों में कोरापुर, रायगढ़, मलकानगिरि, गजपति, गंजम और नबरंगपुर प्रमुख हैं.

राजेश ने बताया कि इसीलिए राज्य की कोरापुट, नबरंगपुर, बहरामपुर और अस्का लोक सभा सीटों से टीडीपी उम्मीदवार उतारे जा सकते हैं. जहां तक विधानसभा सीटों का ताल्लुक़ है तो 52 सीटों पर अभी सर्वेक्षण चल रहा है. उनके मुताबिक आंध्र प्रदेश में चंद्रबाबू नायडू के नेतृत्व में हुए विकास कार्याें के जरिए ही टीडीपी ओडिशा के लोगों का समर्थन हासिल करने की कोशिश करेगी. यह मिलेगा भी क्योंकि ओडिशा को भी तेज गति के विकास की ज़रूरत है.