कांग्रेस ने गोवा में सत्तारूढ़ भाजपा पर हमले तेज करते हुए एक बार फिर शक्ति परीक्षण की मांग दोहराई है. हाल ही में पांच राज्यों में संपन्न हुए विधानसभा चुनावों के एक्जिट पोल के नतीजों में कांग्रेस की स्थिति मजबूत दिखने के एक दिन बाद पार्टी ने यह मांग की है. पीटीआई के मुताबिक एक्जिट पोल के नतीजों को लेकर गोवा कांग्रेस के अध्यक्ष गिरीश चूडांकर ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि सत्तारूढ़ पार्टी की वर्ष 2017 में गोवा में सत्ता ‘हड़पने’ की हरकत राष्ट्रीय स्तर पर उसके खिलाफ रही. उन्होंने बीमार मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को सत्ता में बने रहने देने के लिए राज्यपाल मृदुला सिन्हा की भी निंदा की.

एक्जिट पोल के नतीजों पर सवाल किए जाने पर चूडांकर ने पत्रकारों से कहा, ‘बीमार मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को सता में बने रहने की अनुमति देने के राज्यपाल मृदुला सिन्हा के निष्फल प्रयासों से भाजपा को कोई लाभ नहीं मिलेगा. इसके विपरीत, गोवा की नाकामयाबी से भाजपा को राष्ट्रीय स्तर पर नुकसान हुआ है.’

चूडांकर ने कहा कि चुनाव के नतीजे भाजपा के लिए ‘चेतावनी’ होंगे जो गोवा विधानसभा को भंग करने की योजना बना रही है. इसके साथ ही कांग्रेस नेता ने एक बार फिर अपनी पार्टी की शक्ति परीक्षण की मांग दोहराई. उन्होंने पर्रिकर सरकार पर मतदाताओं को हल्के में लेने का आरोप लगाते हुए कहा, ‘कांग्रेस ने बार-बार कहा है कि उसके पास सरकार बनाने के लिए बहुमत है, जिसे वह सदन में साबित कर देगी.’