पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मुंबई आतंकी हमले को लेकर एक अहम बयान दिया है. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, वॉशिंगटन पोस्ट को दिए अपने एक इंटरव्यूह में इमरान खान ने कहा है, ‘हम मुंबई के हमलावरों को लेकर निश्चित रूप से कुछ करना चाहते हैं. मैंने इस मामले (केस) की स्थिति का पता लगाने के लिए कहा है. इस मामले को सुलझाना हमारी प्राथमिकता में है, क्योंकि यह आतंकवादी कृत्य था.’ इमरान खान ने यह बयान लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर जकी-उर-रहमान लखवी की रिहाई के संबंध में पूछे एक प्रश्न के जवाब में दिया है.

26 नवंबर, 2008 को समुंद्र के रास्ते मुंबई में दस पाकिस्तानी आतंकवादी पहुंचे थे और लोगों पर ताबड़तोड़ फायरिंग की थी. इस हमले में 18 सुरक्षाकर्मियों समेत 166 लोगों की मौत हो गई थी साथ ही कई लोग घायल हो गए थे. जकी-उर-रहमान लखवी मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड में से एक है. पाकिस्तान की एक अदालत में बीते दस सालों से मुंबई हमले के आरोपितों पर मुकदमा लंबित है. पाकिस्तान में इस मामले की जांच कर रही एजेंसियां बार-बार साक्ष्यों की कमी का हवाला देती रहती हैं जबकि भारत में इस मामले में दोषियों को सजा दी जा चुकी है.