समाजवादी पार्टी (सपा) ने उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में हुई हिंसा की घटना को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है. एनडीटीवी के मुताबिक सपा के प्रवक्ता अब्दुल हाफिज गांधी ने योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश का ‘सबसे अयोग्य मुख्यमंत्री’ बताते हुए उन पर सांप्रदायिक भावनाएं भड़काने की कोशिश का आरोप लगाया है.

उनका यह भी कहना है, ‘हिंसा की इस घटना में एक पुलिस अधिकारी और एक अन्य युवक के मारे जाने के बावजूद मुख्यमंत्री ने इसे महज एक दुर्घटना करार दिया है. यह उनकी संवेदनहीनता को दर्शाता है.’ इसके साथ ही अब्दुल हाफिज गांधी ने योगी आदित्यनाथ पर अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव को देखते हुए राज्य में सांप्रदायिक ध्रुवीकरण करने का आरोप भी लगाया है.

उनके मुताबिक इस मामले में दर्ज की गई एफआईआर में नाम शामिल होने के बाद भी राज्य पुलिस इसके मुख्य साजिशकर्ता योगेश राज को नहीं पकड़ रही है. ऐसा लगता है कि मुख्यमंत्री ने पुलिस को पहले से ही हिंदूवादी संगठनों और उनके कार्यकर्ताओं के खिलाफ कोई कार्रवाई न करने के निर्देश दे रखे हैं.

उधर, उत्तर प्रदेश सरकार के पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने भी बुलंदशहर हिंसा को भरतीय जनता पार्टी (भाजपा) की साजिश बताया है. उनका यह भी कहना है कि 2019 में होने वाले आम चुनाव के दौरान विशेष वर्ग का वोट हासिल करने के लिए सत्ताधारी पार्टी यह सब कुछ करवा रही है.

इससे पहले बीते सोमवार को बुलंदशहर के स्याना में मरी गायों के अवशेष पाए जाने पर हिंसा भड़क उठी थी जिसमें गोली लगने से एक पुलिसकर्मी व युवक की मौत हो गई थी. उधर, शुक्रवार को एक कार्यक्रम के दौरान योगी आदित्यनाथ ने हिंसा की इस घटना को मॉब लिंचिंग (भीड़ द्वारा की जाने वाली हिंसा व हत्या) के बजाय इसे सिर्फ एक दुघर्टना बताया था.