करतारपुर गलियारा खोले जाने को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पाकिस्तान का षड्यंत्र करार दिया है. उन्होंने इस बाबत इमरान खान के प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने से पहले ही पाकिस्तान सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा द्वारा नवजोत सिंह सिद्धू को करतारपुर गलियारा खोलने की खबर देने का हवाला दिया.

द टाइम्स ऑफ इंडिया के रिपोर्ट के मुताबिक, एक टीवी चैनल को दिए साक्षात्कार कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, ‘करतरपुर गलियारे का उद्घाटन स्पष्ट रूप से आईएसआई (पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी) का गेम प्लान था.’ उन्होंने मीडिया में आई उन खबरों को खारिज किया जिसमें नवजोत सिंह सिद्धू के साथ झगड़े की बात कही जा रही थी. उन्होंने कहा, ‘मेरे और सिद्धू के बीच टकराव जैसी कोई बात नहीं है, जैसा कि मीडिया रिपोर्ट कर रहा है. सिद्धू की वजह से मुझे सरकार चलाने में भी कोई दिक्कत नहीं है. सिद्धू हमेशा स्पष्ट बोलते हैं. उनके साथ सिर्फ एक दिक्कत है कि कई बार वे बगैर सोचे ही बोल देते हैं.’ वहीं नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा राहुल गांधी को अपना कैप्टन बताए जाने के सवाल पर अमरिंदर सिंह ने कहा कि, ‘ये चर्चा का कोई विषय ही नहीं है क्योंकि सिद्धू मुझे अपने पिता जैसा मानते हैं’.

माना जा रहा था कि सिद्धू के पाकिस्तान जाने से कैप्टन अमरिंदर सिंह नाराज थे. उन्होंने खुद भारत में आतंकवाद के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराते हुए करतारपुर गलियारे के आयोजन में शामिल होने के पाकिस्तान के न्यौते को ठुकरा दिया था.