भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. खबरों के मुताबिक पटेल ने अपने इस्तीफे की वजह निजी बताई है. लेकिन कुछ सूत्रों के मुताबिक उर्जित पटेल के इस्तीफे का एक कारण उनके और सरकार के बीच विवाद भी है. पटेल का कार्यकाल सितंबर 2019 तक था. 1990 के बाद अपने कार्यकाल के बीच में इस्तीफा देने वाले उर्जित पटेल पहले गवर्नर हैं.

समाचार एजेंसी रायटर्स के मुताबिक, उर्जित पटेल ने अपने इस्तीफे की वजह निजी बताते हुए आरबीआई के साथियों का आभार जताया है. उर्जित ऩे अपना पद तत्काल प्रभाव से छोड़ने की बात कही है. पिछले दिनों आरबीआई और सरकार के बीच आरक्षित कोष को लेकर हुए विवाद के दौरान उनके इस्तीफे की अटकलें लगाईं जा रहीं थीं.

लेकिन आरबीआई बोर्ड की पिछली बैठक के बाद यह तय हुआ था कि आरक्षित कोष के बंटवारे को लेकर सरकार और अारबीआई के बीच एक समिति गठित करने की बात तय हुई थी. तब माना जा रहा था कि उर्जित पटेल और सरकार के बीच विवाद टल गया है. लेकिन सोमवार को एकाएक उर्जित के इस्तीफे के बाद सरकार से लेकर वित्तीय बाजार तक चौंक गया है.