कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष और वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी के दामाद और कारोबारी रॉबर्ट वाड्रा ने आज प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के छापों को गलत बताते हुए केंद्र सरकार पर हमले किए. समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘मैं पॉलिटिकल ब्लैकमेलिंग के लिए अपने नाम का इस्तेमाल नहीं होने दूंगा. मैं हमेशा से सहयोग करने के लिए तैयार हूं, लेकिन जांच निष्पक्ष और कानून के मुताबिक होनी चाहिए. मैं कहीं भाग नहीं रहा हूं. किसी दूसरे किसी देश में बसने नहीं जा रहा हूं.’

रॉबर्ट वाड्रा ने यह भी कहा, ‘मेरे खिलाफ लगे सारे आरोप पूरी तरह से गलत और राजनीति से प्रभावित हैं. हमने सभी नोटिसों का जवाब दिया है, लेकिन इस तरह की कार्रवाई से मेरा परिवार चिंतित है. मां की तबीयत ठीक नहीं है. मेरे परिसरों में तोड़फोड़ की गई और ताले तोड़े गए हैं.’ बताते चलें कि ईडी ने बीते शुक्रवार को रॉबर्ट वाड्रा के कुछ करीबियों के ठिकानों पर छापामारी की है. यह कार्रवाई दिल्ली-एनसीआर (राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र) के अलावा बेंगलुरु में की गई. उधर, रॉबर्ट वाड्रा के वकील सुमन ज्योति खेतान ने ईडी के अधिकारियों पर सर्च वारंट दिखाए बिना ही तलाशी की कार्रवाई किए जाने के आरोप लगाए थे.