मेघालय की एक अवैध कोयला खदान में पानी भर जाने से 13 मज़दूरों की मौत हो जाने ख़बर है. घटना ईस्ट जेंतिया हिल्स जिले में गुरुवार सुबह हुई. यहां राहत और बचाव कार्य अब भी जारी है.

ख़बरों के मुताबिक जिले के पुलिस अधीक्षक सिल्वेस्टर नॉन्गटिंगर ने इस घटना की पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि काेयला खदान सान गांव में है. बताया यह भी जाता है कि यह ख़दान अवैध है और इस तरह से (रैट होल कोल माइनिंग, जिसमें चूहों के बिल की तरह खुदाई करते हुए कोयला निकालते हैं) कोयला खनन पर मेघालय में 2014 से प्रतिबंध लगा है. राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण ने यह प्रतिबंध लगाया था.

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मज़दूर जब लीतिन नदी के किनारे स्थित इस खदान से कोयला निकाल रहे थे तभी उसमें पानी भरने लगा. इसके बाद 13 मज़दूर वहीं फंस गए. इनकी मौत होने की आशंका है. खदान से पानी निकालने की कोशिश की जा रही है. साथ ही पुलिस उन लोगों की पहचान कर रही है जो अवैध कोयला खनन करा रहे थे. इस सिलसिले में मामला दर्ज़ कर जांच शुरू की जा चुकी है.