दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में आज एक मुठभेड़ वाली जगह के पास इकट्ठा हुई उग्र भीड़ को तितर-बितर करने के लिए सुरक्षा बलों की कथित गोलीबारी में सात नागरिकों की मौत हो गई. इससे पहले मुठभेड़ में तीन आतंकवादियों की मौत और सेना के एक जवान के शहीद होने की खबर आई थी.

नागरिकों की मौत को लेकर पुलिस अधिकारियों ने जानकारी दी कि यह घटना सुबह सिर्नू गांव में हुई. उनके मुताबिक उस समय सुरक्षा बलों ने सेना से भागे हुए जहूर अहमद ठोकेर समेत तीन आतंकवादियों को इलाके में घेर लिया था. पीटीआई ने अधिकारियों के हवाले से बताया कि जैसे ही ठोकेर के मुठभेड़ में फंसे होने के बारे में खबरें फैली, तभी स्थानीय लोगों ने मुठभेड़ स्थल पर जुटना शुरू कर दिया. बता दें कि ठोकेर इसी गांव का था.

अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षा बलों ने 25 मिनट में तीनों आतंकवादियों को मार गिराया, लेकिन वे तब मुश्किल में पड़ गए जब लोगों ने सेना के वाहनों पर चढ़ना शुरू कर दिया. उनके मुताबिक लोगों को चेतावनी देने के लिए हवा में गोलियां भी चलाई गईं, लेकिन उससे भी उग्र भीड़ रुकी नहीं जिसके चलते सुरक्षा बलों को भीड़ पर गोलियां चलानी पड़ीं. इसमें सात नागरिकों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए. इनमें एक युवक की हालत गंभीर बताई जा रही है.