‘मेरी राय में नोटबंदी एक खराब विचार था.’  

— रघुराम राजन, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के पूर्व गवर्नर

रघुराम राजन ने यह बात एक सवाल के जवाब में कही. उनके मुताबिक ऊंचे मूल्य की मुद्रा को प्रतिबंधित करने के लिए सरकार ने उनसे उनकी राय पूछी थी जिस पर उन्होंने असहमति जताई थी.राजन के मुताबिक जीएसटी से भी अर्थव्यवस्था प्रभावित हुई है और इस सुधारात्मक कर प्रणाली को व्यवस्थित तरीके से लागू किया जाना चाहिए था. रघुराम राजन आगे कहा, ‘मैंने प्रधानमंत्री कार्यालय को बैंकों के सबसे बड़े बकायेदारों की एक सूची भेजी. उस सूची का क्या हुआ मुझे कुछ नहीं पता. मैं समझता हूं कि अगर ऐसे लोगों पर कार्रवाई हुई होती है तो यह दूसरे कर्जदारों के लिए बड़े सबक जैसा होता.’

‘राहुल गांधी भारत के प्रधानमंत्री नहीं बन सकते क्योंकि वे खुद मान चुके हैं कि वे ब्रिटिश नागरिक हैं.’  

— सुब्रमण्यम स्वामी, भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा सांसद

सुब्रमण्यम स्वामी का यह बयान उन नेताओं पर निशाना साधते हुए आया है तो आगामी आम चुनाव में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को प्रधानमंत्री पद के दावेदार के तौर पर पेश करने की मांग कर रहे हैं. सुब्रमण्यम स्वामी के मुताबिक राहुल गांधी की नागरिकता को लेकर उन्होंने लालकृष्ण आडवाणी की अध्यक्षता वाली एथिक्स समिति से शिकायत की थी पर उस समिति ने इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया था. उन्होंने आगे कहा कि यह अच्छी बात है कि गृह मंत्रालय अब इस मामले की पड़ताल कर रहा है.


‘1984 का सिख विरोधी दंगा कोई फसाद नहीं बल्कि एकतरफा नरसंहार था.’  

— प्रकाश जावड़ेकर, केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री

प्रकाश जावड़ेकर का यह बयान दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा कांग्रेस के नेता सज्जन कुमार को सिख विरोधी दंगों के मामले में उम्र कैद की सजा सुनाए जाने पर आया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस को अपनी पार्टी के वरिष्ठ नेता नेता कमलनाथ पर भी कार्रवाई करनी चाहिए क्योंकि उन पर भी 1984 के दंगों में शामिल होने का आरोप है.


‘मनोहर पर्रिकर पर काम का दबाव बनाए बगैर उन्हें अपनी बीमारी से उबरने देना चाहिए.’  

— उमर अब्दुल्ला, नेशनल कांफ्रेंस के नेता

उमर अबदुल्ला ने यह बात भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए एक ट्वीट के जरिये कही है. इस ट्वीट में उन्होंने यह भी लिखा, ‘यह कितना अमानवीय है कि बीमारी के हाल में भी उनसे (मनोहर पर्रिकर) काम करवाया जा रहा है. क्यों बिना किसी दबाव और तमाशे के उन्हें उनकी बीमारी से उबरने नहीं दिया जा रहा है.’ गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर अग्नाशय के कैंसर से पीड़ित हैं. इसी रविवार को उन्होंने राज्य की कुछ निमार्णाधीन परियोजनाओं का दौरा किया था. मीडिया में इस दौरे की कुछ तस्वीरें भी आई थीं.


‘जम्मू-कश्मीर के स्थानीय लोगों की हत्याओं को किसी हाल में स्वीकार नहीं किया जा सकता.’  

— गुलाम नबी आजाद, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता

गुलाम नबी आजाद का यह बयान कश्मीर के पु​लवामा जिले में बीते हफ्ते सेना की गोली से सात लोगों के मारे जाने की घटना पर आया है. उनके मुताबिक सेना की गोली से जब आतंकी मारे जाते हैं तो उसकी चौतरफा प्रशंसा होती है. लेकिन सेना की गोलियों से स्थानीय लोगों के मारे जाने को किसी हाल में स्वीकार नहीं किया जा सकता. इस घटना के पीड़ित परिवारों के साथ शोक जताते हुए गुलाम नबी आजाद ने इसकी जांच कराए जाने की मांग भी की है.