दिल्ली हाई कोर्ट ने सोमवार को कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को साल 1984 के सिख दंगों के में दोषी ठहराते हुए उम्र कैद की सजा सुनाई है. इस खबर को आज के अधिकतर अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. हाई कोर्ट ने निचली अदालत के फैसले को पलटते हुए यह फैसला दिया है. इससे पहले निचली अदालत ने सज्जन कुमार को इस मामले से बरी कर दिया था. दिल्ली हाई कोर्ट के फैसले की मानें तो 31 दिसंबर तक सज्जन कुमार को आत्मसमर्पण करना होगा. साथ ही, वे इससे पहले दिल्ली छोड़कर भी नहीं जा सकते. बीती 29 अक्टूबर को हाई कोर्ट ने इस मामले पर सुनवाई पूरी होने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था.

2019 के चुनाव में महिलाओं की एक अलग पार्टी के उतरने की तैयारी

साल 2019 के लोक सभा चुनाव में देश की आधी आबादी के प्रतिनिधित्व के लिए ‘राष्ट्रीय महिला पार्टी’ दांव आजमाने की तैयारी में है. अमर उजाला की खबर के मुताबिक दिल्ली में इस नई सियासी पार्टी का ऐलान किया जाना है. बताया जाता है कि यह पार्टी अगले साल 272 सीटों पर अपने उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतारेगी. प्रस्तावित पार्टी की प्रमुख डॉ. श्वेता शेट्टी का कहना है, ‘73 वें संविधान संशोधन के बाद पंचायत चुनावों में आधी सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित हैं. लेकिन अपने अधिकारों के प्रति जागरूकता में अभाव की वजह से ‘सरपंच पति’ ही अपनी पत्नी की जगह काम कर रहे हैं. लोक सभा और विधानसभा में यह संभव नहीं हो पाएगा.’

छत्तीसगढ़ : खदान में ऑक्सीजन की कमी से तीन की मौत

छत्तीसगढ़ के कोरबा में स्थित साउथ-इस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एसईसीएल) की खदान में तीन मजदूरों की मौत हो गई. इनकी मौत की वजह ऑक्सीजन की कमी को बताया जाता है. नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक एसईसीएल के एक अधिकारी ने इस घटना के बारे में जानकारी दी. उन्होंने कहा काम के दौरान एक मजदूर पुरानी सुरंग में बिना उपकरण के चला गया था. उसमें ऑक्सीजन की कमी की वजह से वह बेहोश हो गया. इसके बाद उनकी मदद के लिए दो और मजदूर वहां पहुंच गए और बेहोश हो गए. तीनों को अस्पताल पहुंचाया गया. हालांकि, उन सभी को बचाया नहीं जा सका.

उज्ज्वला योजना के तहत अब लाभार्थियों को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने अब गरीब परिवारों (बीपीएल) को उज्ज्वला योजना के तहत मुफ्त में एलपीजी कनेक्शन देने का फैसला किया है. हिन्दुस्तान में प्रकाशित खबर के मुताबिक यह फैसला केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में लिया गया है. इस बैठक के बाद पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बताया कि सरकार ने सभी गरीब परिवारों को उज्ज्वला योजना का फायदा देने का फैसला किया है. इससे पहले इस योजना के तहत लाभार्थी परिवार को सब्सिडी न देकर एलपीजी कनेक्शन का पैसा वसूला जाता था. अब तक इस योजना के दायरे में करीब 5.8 करोड़ परिवार आ चुके हैं. वहीं, सरकार ने आठ करोड़ परिवारों तक इस योजना को पहुंचाने का लक्ष्य रखा है.