संसद के शीतकालीन सत्र का पांचवां दिन भी हंगामे की भेंट चढ़ गया. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक मंगलवार को लोकसभा का प्रश्नकाल शुरू होते ही कांग्रेस के सदस्यों ने रफाल विमान सौदे को लेकर संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) के गठन की मांग को लेकर नारेबाजी की. वहीं तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) के सदस्य आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग करते हुए लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के आसन के नजदीक आ गए.

सदन में हंगामा करते हुए लोकसभा अध्यक्ष के आसान के करीब पहुंचे कांग्रेस और टीडीपी के सांसद.
सदन में हंगामा करते हुए लोकसभा अध्यक्ष के आसान के करीब पहुंचे कांग्रेस और टीडीपी के सांसद.

विपक्षी दलों की नारेबाजी को देखकर हुए सत्ताधारी दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्यों ने भी रफाल सौदे पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले और 1984 के सिख दंगों पर दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश के मद्देनजर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से माफी मांगने को लेकर नारे लगाने शुरू कर दिए. सदन में बढ़ते शोरगुल और हंगामे के मद्देनजर सुमित्रा महाजन ने लोकसभा की कार्यवाही बुधवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी.

इस दौरान सांसदों के प्रति नाराजगी जाहिर करते हुए सवालिया लहजे में उन्होंने कहा, ‘क्या हम स्कूली बच्चों से भी गए-गुजरे हो गए हैं कि सदन की कार्यवाही शांतिपूर्ण ढंग से नहीं चलने दे सकते.’ उन्होंने आगे कहा, ‘वर्तमान लोकसभा का यह अंतिम पूर्ण सत्र है इसलिए सदस्यों को सहयोग करना चाहिए.’ रफाल सौदे पर जेपीसी के गठन को अपने अधिकार क्षेत्र से बाहर बताते हुए उन्होंने यह भी कहा कि विपक्षी दलों के तमाम मुद्दों पर चर्चा कराने के लिए वे सरकार से बात करेंगी.