मुंबई की चर्चित इमारत ‘जिन्ना हाउस’ अब जल्दी ही भारतीय विदेश मंत्रालय की संपत्ति बनने जा रही है. पीटीआई की एक खबर के मुताबिक विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने जानकारी दी है कि उनका मंत्रालय पाकिस्तान के संस्थापक मुहम्मद अली जिन्ना के समुद्र किनारे स्थित बंगले को अपने नाम हस्तांतरित कराने की प्रक्रिया में है. फिलहाल जिन्ना हाऊस भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद (आईसीसीआर) की संपत्ति है.

महाराष्ट्र से आने वाले भाजपा के एक विधायक मंगल प्रभात लोढ़ा को भेजे एक पत्र में सुषमा ने कहा है कि उनका मंत्रालय दिल्ली के हैदराबाद हाउस की तर्ज पर इस बंगले का भी नवीनीकरण कराएगा. लोढ़ा ने पांच अक्टूबर को सुषमा स्वराज को एक पत्र लिखकर अनुरोध किया था कि जिन्ना हाउस को सांस्कृतिक केंद्र बनाया जाना चाहिए.

सुषमा ने अपने पत्र में आगे कहा है, ‘प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने दिल्ली के हैदराबाद हाउस में उपलब्ध सुविधाओं की तर्ज पर विकसित करने के लिए जिन्ना हाउस के नवीनीकरण का निर्देश दिया है. इसके लिए भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद से संपत्ति के हस्तांतरण के लिए पीएमओ से मंजूरी मांगी गई. पीएमओ ने अब आवश्यक मंजूरी प्रदान कर दी है.’ वहीं लोढ़ा ने बुधवार को पीटीआई के साथ बातचीत में कहा है कि इस घटनाक्रम से बंगले के स्वामित्व को लेकर पैदा विवाद समाप्त हो जाएगा. पाकिस्तान बीते कई सालों से मांग करता रहा है कि यह संपत्ति उसके मुंबई स्थित वाणिज्य दूतावास को सौंप दी जाए.