जम्मू-कश्मीर में आज आधी रात के बाद से राष्ट्रपति शासन लागू हो जाएगा. खबरों के मुताबिक राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जम्मू-कश्मीर में केंद्रीय शासन लागू करने के आदेश पर अपने दस्तखत कर दिए हैं. साल 1996 के बाद यह पहला मौका होगा जब यहां राष्ट्रपति शासन लगाया जा रहा है. राष्ट्रपति शासन लगने के साथ ही राज्य के सभी अधिकार संसद के पास चले जाएंगे. इसके साथ ही वहां के राज्यपाल सत्यपाल मलिक भी खुद कोई निर्णय नहीं कर सकेंगे. कोई फैसला करने से पहले उन्हें केंद्र की अनुमति लेनी होगी.

इससे पहले इसी साल जून में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की तरफ से समर्थन वापस लेने के बाद महबूबा मुफ्ती के नेतृत्व वाली प्रदेश सरकार गिर गई. उसके बाद से वहां 19 दिसंबर तक के लिए राज्यपाल शासन लागू हो गया था. हालांकि बीते महीने महबूबा मुफ्ती ने नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) जबकि पीपल्स कॉन्फ्रेंस के नेता सज्जाद लोन ने भाजपा का समर्थन हासिल करके प्रदेश में नई सरकार बनाने के लिए राज्यपाल को चिट्ठी भेजी थी. लेकिन उस दौरान विधायकों की खरीद-फरोख्त की आशंका के मद्देनजर सत्यपाल मलिक ने विधानसभा भंग कर दी थी.