तेलंगाना में विधानसभा चुनाव निपट चुके हैं. इनमें तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) को लगातार दूसरी बार राज्य की सत्ता तक पहुंचने में भी क़ामयाबी मिली है. हालांकि इसके बावज़ूद पार्टी प्रमुख और राज्य के मुख्यमंत्री केसीआर (के चंद्रशेखर राव) अभी चुनावी मोड से बाहर आते नहीं दिख रहे हैं. द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक उनकी पार्टी ने उनके लिए एक विशेष निजी विमान किराए पर लिया गया है. इससे इस तरह का संकेत मिल रहा है.

टीआरएस के एक वरिष्ठ नेता ने अख़बार से बातचीत में इसकी पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि इस विशेष विमान का किराया पार्टी ही भरेगी. इससे पार्टी प्रमुख केसीआर आने वाले कुछ दिनों तक देश के विभिन्न राज्यों की यात्रा करेंगे. इन यात्राओं का मक़सद विशुद्ध राजनीतिक है. इनमें केसीआर तमाम क्षेत्रीय दलों के प्रमुखों से मुलाकात करेंगे. केसीआर उन नेताओं से ख़ास तौर पर संपर्क करेंगे जिन्होंने अब तक कांग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन में शामिल होने पर अपनी स्थिति स्पष्ट नहीं की है.

बताया जाता है कि इन नेताओं में तृणमूल कांग्रेस की ममता बनर्जी, बहुजन समाज पार्टी की मायावती, बीजू जनता दल के नवीन पटनायक आदि प्रमुख हैं. इनके अलावा दलित, मुस्लिम, ईसाई और किसान संगठनों के प्रमुखों से भी केसीआर मुलाकात करेंगे. इन सभी से मिलकर वे 2019 के लोक सभा चुनाव के मद्देनज़र में ग़ैरकांग्रेस-ग़ैरभाजपा गठबंधन बनाने की संभावनाओं पर चर्चा करेंगे. उन सभी नेताओं को यह समझाने की कोशिश करेंगे कि यह गठबंधन क्यों ज़रूरी है और कैसे फ़ायदेमंद है.

सूत्र बताते हैं कि इन यात्राओं का सिलसिला 23 दिसंबर, रविवार से ही शुरू हाे रहा है. इस दिन पत्नी और निज़ामाबाद से सांसद बेटी के कविता के साथ केसीआर आंध्र प्रदेश के विशाखापट्‌टनम के लिए रवाना होंगे. यहां वे शारदा पीठ के राजश्यामला मंदिर में पूजा-अर्चना करेंगे. आंध्र प्रदेश में ख़ासा असर रखने वाले कापू समुदाय के नेता मुद्रगाड़ा पद्मनाभम से मुलाकात करेंगे. साथ ही स्वामी रूवरूपानंद स्वामी के आश्रम में दोपहर के भोजन के साथ उनसे भी विचार-विमर्श करेंगे. आशीर्वाद लेंगे.

हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि केसीआर आंध्र प्रदेश के प्रमुख विपक्षी दल- वाईएसआर कांग्रेस के नेता जगनमोहन रेड्‌डी से मुलाकात करेंगे या नहीं. लेकिन इस मुलाकात की संभावना से भी इंकार नहीं किया जा रहा है. अब यहीं यह भी याद रखा जा सकता है कि आंध्र प्रदेश की सत्ता पर काबिज़ टीडीपी (तेलुगु देशम पार्टी) और उसके प्रमुख चंद्रबाबू नायडू ने तेलंगाना का हाल ही में हुआ विधानसभा चुनाव कांग्रेस के साथ लड़ा था. नायडू कांग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन का अब प्रमुख चेहरा भी बन चुके हैं.