पीवी सिंधू ने इतिहास रचा, विश्व टूर फाइनल्स का खिताब जीता | रविवार, 16 दिसंबर 2018

भारत की स्टार शटलर पीवी सिंधू ने बीते रविवार को इतिहास रचते हुए पूर्व विश्व चैंपियन नोजोमी ओकुहारा को हराकर विश्व टूर फाइनल्स का खिताब अपने नाम कर लिया. चीन के गुआंगज़ौ में हुए खिताबी मुकाबले में सिंधू ने जापानी खिलाड़ी को सीधे सेटों में मात दी और विश्व टूर फाइनल्स का खिताब जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बन गईं. लगातार तीसरी बार विश्व टूर फाइनल्स में खेल रही सिंधू को पिछले साल जापान की ही अकाने यामागुची से शिकस्त का सामना करना पड़ा था. लेकिन इस बार वह एक घंटे और दो मिनट चले मुकाबले में ओकुहारा को 21-19 21-17 से हराकर खिताब जीतने में सफल रहीं. (विस्तार से)

1984 के सिख दंगा मामले में सज्जन कुमार को उम्र कैद | सोमवार, 17 दिसंबर 2018

एक तरफ़ बीते सोमवार को जहां कांग्रेस तीन राज्यों- राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में अपने नए मुख्यमंत्रियों क्रमश: अशोक गहलोत, कमलनाथ और भूपेश बघेल के शपथ का समारोह मना रही थी. वहीं उसे 1984 के सिख दंगा मामले में अदालत से झटका लगा. दिल्ली हाईकोर्ट ने कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को इस मामले में दोषी ठहराते हुए उम्र कैद की सजा सुनाई. उच्च अदालत ने निचली अदालत के फ़ैसले को पलटते हुए यह निर्णय दिया. निचली अदालत ने सज्जन कुमार को सिख दंगा मामले से बरी कर दिया था. (विस्तार से)

आईपीएल नीलामी : युवराज सिंह मुश्किल से बिके, अनजान वरूण चक्रवर्ती पर करोड़ों की बोली | मंगलवार, 18 दिसंबर 2018

खराब दौर से जूझ रहे भारतीय बल्लेबाज युवराज सिंह आईपीएल खिलाड़ियों की नीलामी में बड़ी मुश्किल से बिके. शुरुआत में किसी टीम ने उनमें दिलचस्पी नहीं दिखाई, लेकिन बाद में मुंबई इंडियंस ने उन्हें उनके बेस प्राइस (एक करोड़) पर खरीद लिया. जबकि तमिलनाडु के अनजान खिलाड़ी वरूण चक्रवर्ती सनसनी बनकर उभरे और उन पर आठ करोड़ 40 लाख की बोली लगी. वेस्टइंडीज के खिलाड़ियों की भी नीलामी में धूम रही और शिमरोन हेटमायेर और कार्लोस ब्रेथवेट को भी मोटी रकम मिली. इंग्लैंड के युवा हरफनमौला खिलाड़ी सैम करन भी सात करोड़ बीस लाख में बिके. (विस्तार से)

आधार के लिए दबाव बनाने वाली कंपनियों पर अब एक करोड़ रुपये का जुर्माना, दस साल की सजा | बुधवार, 19 दिसंबर 2018

बैंक व टेलीकॉम कंपनियां अब अगर पहचान व पते के प्रमाण के रूप में आधार कार्ड देने का दबाव बनाते हैं तो उन पर एक करोड़ रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है. इतना ही नहीं, ऐसी कंपनियों के कर्मचारियों को तीन से दस साल तक की सजा भी हो सकती है. टाइम्स ऑफ इंडिया की एक खबर के मुताबिक केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत आधार कार्ड की अनिवार्यता को लेकर यह अहम फैसला लिया है. इसके बाद अब ग्राहकों को बैंक में खाता खुलवाने या फिर सिम कार्ड लेने के लिए आधार कार्ड देना जरूरी नहीं होगा. यानी यह पूरी तरह उनकी इच्छा पर निर्भर होगा कि वे आधार देना चाहें या नहीं. (विस्तार से)

नीति आयोग चाहता है कि सिविल सेवाओं में सामान्य वर्ग के लिए भर्ती की उम्र 27 साल कर दी जाए | गुरुवार, 20 दिसंबर 2018

नीति आयोग ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को बीते गुरुवार को एक अहम सुझाव दिया, जिस पर नया बखेड़ा भी संभव है. ख़बरों के मुताबिक आयोग चाहता है कि सिविल सेवाओं में सामान्य वर्ग के लिए भर्ती की उम्र 27 साल कर दी जाए. यह व्यवस्था चरणबद्ध तरीके 2022-23 तक लागू कर दी जाए. फिलहाल सिविल सेवाओं में भर्ती के लिए सामान्य वर्ग के परीक्षार्थी 32 साल की उम्र तक कोशिश कर सकते हैं. (विस्तार से)

तिहाड़ जेल में बंद क्रिश्चियन मिशेल ने सेल बदले जाने की मांग की | शुक्रवार 21 दिसंबर 2018

तिहाड़ जेल में बंद 36 हजार करोड़ रुपये के अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदे के मुख्य बिचौलिये क्रिश्चियन मिशेल ने बीते शुक्रवार को दिल्ली की एक अदालत से अपने लिए अलग सेल की मांग की. एनडीटीवी के मुताबिक क्रिश्चियन मिशेल ने कहा है कि तिहाड़ की जिस सेल में उसे रखा गया है वहां के अन्य कैदी उससे अनेक तरह के सवाल करके उसे परेशान कर रहे हैं. क्रिश्चियन मिशेल को इसी महीने की चार तारीख को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के दुबई से भारत प्रत्यर्पित कराया गया था. भारत लाए जाने के बाद एक विशेष अदालत ने उसे पूछताछ के लिए केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंप दिया था. (विस्तार से)

गंगा का पानी 39 में से केवल एक स्थान पर साफ : केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड | शनिवार, 22 दिसंबर

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने अपने ताजा अध्ययन में कहा है कि जिन 39 स्थानों से होकर गंगा नदी गुजरती है, उनमें से केवल एक स्थान पर इस साल मॉनसून के बाद गंगा का पानी साफ था. सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का पालन करते हुए सीपीसीबी ने हाल ही में यह रिपोर्ट जारी की है. ‘गंगा नदी जैविक जल गुणवत्ता आकलन (2017-18)‘ नामक इस रिपोर्ट के अनुसार गंगा बहाव वाले 41 स्थानों में से करीब 37 पर इस साल मॉनसून से पहले जल प्रदूषण ‘मध्यम से गंभीर’ श्रेणी में रहा. रिपोर्ट के मुताबिक मॉनसून से पहले 41 में से केवल चार स्थानों पर पानी की गुणवत्ता ‘साफ या मामूली प्रदूषित’ थी. वहीं, मॉनसून के बाद 39 में से केवल एक स्थान पर यह स्थिति रही. (विस्तार से)

देश और दुनिया की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.