जापान की दो-पहिया वाहन निर्माता कंपनी होंडा मोटर्स की भारतीय इकाई ने चार करोड़ यूनिट वाहन बिक्री का आंकड़ा पार कर नया कीर्तिमान स्थापित किया है. होंडा ने इस उपलब्धि को 18 वर्ष की अवधि में हासिल किया है, जो कि दो-पहिया वाहन सेगमेंट में रिकॉर्ड है. इससे पहले होंडा, भारत में ढाई करोड़ स्कूटर बेचने वाली पहली कंपनी बनकर पिछले महीने भी धमाका कर चुकी है. होंडा की लोकप्रियता को आप इससे समझ सकते हैं कि अपने पहले एक करोड़ वाहन बेचने में कंपनी को ग्यारह साल लगे थे. लेकिन अगली बार होंडा ने यह आंकड़ा तीन वर्ष में ही हासिल कर लिया और अगले दो करोड़ वाहनों को बेचने में कंपनी ने सिर्फ चार वर्ष का समय लिया. इस आंकड़े के साथ होंडा की भारतीय इकाई, 120 देशों में फैली कंपनी की अन्य इकाइयों में शीर्ष पर पहुंच गई है. होंडा इस सफलता का पूरा श्रेय अपने स्कूटर एक्टिवा को देती है जिसे कंपनी ने 2001 में लॉन्च किया था.

रेनो-क्विड
रेनो-क्विड

फ्रांस की कार निर्माता कंपनी रेनो की भारतीय इकाई ने भी पांच लाख वाहन बेचने की घोषणा कर एक नया मुकाम हासिल किया है. भारत में अपने शुरुआती आठ वर्ष में यह उपलब्धि हासिल करने वाली रेनो पहली कंपनी है. बता दें कि भारतीय बाज़ार में एंट्री के लिए रेनो ने महिंद्रा एंड महिंद्रा का हाथ थामा था. कॉम्पैक सेडान ‘लोगन’ इस साझेदारी की पहली पेशकश थी. इसके बाद रेनो ने भारत में सेडान ‘फ्लुएंस’ लॉन्च की थी. लेकिन कंपनी को पहचान दिलवाई कॉम्पैक एसयूवी ‘डस्टर’ ने. डस्टर अपने सेगमेंट की शुरुआती कारों में से थी. बताया जाता है कि ‘फोर्ड एकोस्पोर्ट’ और डस्टर की लोकप्रियता को देखते हुए ही अन्य प्रमुख वाहन निर्माता कंपनियों ने इस सेगमेंट में उतरने की ठानी थी. भारतीय बाज़ार में रेनो के ग्राफ को तेजी से उठाने का काम कंपनी की लोकप्रिय हैचबैक क्विड ने किया. हाल ही में कंपनी ने क्रॉसओवर ‘कैप्चर’ को लॉन्च किया है जिसे ग्राहकों द्वारा खासा पसंद किया जा रहा है.

डुकाटी भारत में प्री-ओन्ड बाइकें बेचेगी

यह ख़बर उन लोगों के काम की हो सकती है जिन्हें सुपर स्पोर्ट्स बाइक चलाने का शौक तो है, लेकिन बजट राह का रोड़ा बना हुआ है. इटली की वाहन निर्माता कंपनी डुकाटी ने भारत में प्री-ओन्ड यानी पहले इस्तेमाल की जा चुकी बाइकों के सेगमेंट में उतरने की घोषणा की है. यानी अब से भारतीय ग्राहक थोड़ी पुरानी, लेकिन कम कीमत में कंपनी की गाड़ियों का लुत्फ उठा सकेंगे.

कंपनी इन बाइकों को ‘डुकाटी अप्रूव्ड’ प्रोग्राम के तहत लॉन्च करेगी जिसमें ‘स्क्रेंबर’ से लेकर ‘पेनीगल वी-4’ तक की रेंज की बाइकों को बेचा जाएगा. जानकारी के मुताबिक डुकाटी सिर्फ उन्हीं पुरानी बाइकों को भारत में बेचेगी जो पांच साल से कम पुरानी होने के साथ पचास हजार किलोमीटर से कम चली हुई हों. कंपनी का दावा है कि इन बाइकों को ट्रेंड टेक्निशियनों द्वारा 35-पॉइंट चेक के बाद ही बेचा जाएगा. ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए डुकाटी इन बाइकों पर एक वर्ष की वारंटी के साथ रोड साइड असिस्टेंस सुविधा भी दे रही है.

इस मौके पर डुकाटी ने बयान ज़ारी कर कहा कि प्री-ओन्ड सेगमेंट में एंट्री कर वह उन ग्राहकों से जुड़ना चाहती है जो उसकी लग्ज़री और प्रीमियम बाइकों को चलाने के लिए बेहद उत्साहित हैं. इस बयान में कंपनी ने आगे जोड़ा, ‘यह प्रोग्राम उन लोगों के लिए लाभदायक साबित होगा जो कम बजट में उसी भरोसे के साथ अपनी ड्रीम मशीन को हासिल करना चाहते हैं. इस प्रोग्राम में कंपनी ग्राहकों को वही विश्वास और प्रमाणिकता देने के लिए प्रतिबद्ध है जिसे वह अपनी नई बाइकों के साथ देती है.’

फोर्स गुरिल्ला का टॉप मॉडल लॉन्च

भारतीय ऑटोमोबाइल कंपनी फोर्स ने अपनी लोकप्रिय ऑफरोड एसयूवी गुरखा के टॉप मॉडल ‘एक्सट्रीम’ को लॉन्च कर दिया है. कंपनी ने इस मॉडल को गुरिल्ला के फेसलिफ्ट वर्ज़न के तौर पर उतारा है जिसमें लुक्स से लेकर परफॉर्मेंस तक हर मोर्चे पर गाड़ी को अपडेट किया गया है. हालांकि कंपनी ने गुरखा के ड्राइव सिस्टम के साथ कोई बदलाव न करते हुए इसे 4*4 ही रखा है. यदि गोरखा एक्स्ट्रीम में किए गए सबसे बड़ा बदलाव की बात करें तो वह इसके बोनट के नीचे इंजन की शक्ल में नज़र आता है. फोर्स ने इस गाड़ी के लिए मर्सिडीज़ बेंज के ओएम-611 इंजन को इस्तेमाल किया है जो 2.2-लीटर क्षमता के साथ 140 बीएचपी की अधिकतम पॉवर और 321 एनएम का पीक टॉर्क पैदा करने में सक्षम है. इस इंजन को मर्सिडीज़ बेंज के ही 5-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स के साथ जोड़ा गया है.

कार के लुक्स की बात करें तो इसका फ्रंट, सिंगल-स्लेट ग्रिल, क्लासिक गोल हैडलैंप्स के साथ दी गई ग्रिल्स और मैटल स्किड प्लेट वाले दमदार बंपर की वजह से आक्रामक लेकिन आकर्षक दिखता है. कंपनी ने एसयूवी मे एलईडी इंडिकेटर्स देने के साथ नए व्हील्स और एक्सट्रीम बैजिंग दी है. इसके अलावा कार के साथ सिग्नेचर क्रोम फिनिश एयर इंटेक्स, मजबूत साइड क्लैडिंग्स, नए आकर्षक ग्राफिक्स, बड़े आकार के ओआरवीएम और हर तरह के रास्ते पर आराम से चल सकने वाले चौड़े ट्यूबलेस टायर्स मिलते हैं.

फोर्स ने अपनी इस दमदार एसयूवी को नए एक्सल के साथ खासे दमदार सी-इन-सी चेसी पर बनाया है. गोरखा एक्सट्रीम अपने सेगमेंट की इकलौती एसयूवी है जिसमें अगले और पिछले एक्सल के लिए अलग-अलग लॉक्स मिलते हैं. यदि कार के अगले एक्सेल की बात करें तो यहां फिट हब लॉक दिया गया है जो ईंधन की बचत के साथ 2-व्हील ड्राइवट्रेन में कार को आराम देता है. इसके अलावा गाड़ी में दिए गए कॉइल स्प्रिंग सस्पेंशन की मदद से इसका ऑफ-रोडिंग अनुभव शानदार साबित होता है. फोर्स ने गुरखा एक्सट्रीम के लिए 12.99 लाख रुपए (एक्सशोरूम) कीमत तय की है.