पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को उनके उस बयान के लिए जवाब दिया है जिसमें पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों बराबरी का दर्जा देने का वादा किया था. मोहम्मद कैफ ने कहा कि अल्पसंख्यकों पर नसीहत देने वाला पाकिस्तान अंतिम देश होना चाहिए. पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने ट्वीट कर कहा कि बंटवारे के समय पाकिस्तान में करीब 20 प्रतिशत अल्पसंख्यक थे लेकिन, अब वहां केवल दो प्रतिशत अल्पसंख्यक बचे हैं. कैफ ने लिखा, ‘दूसरी ओर भारत में आजादी के बाद अल्पसंख्यकों की संख्या बढ़ी है. अल्पसंख्यकों के साथ कैसा बर्ताव किया जाए इस पर लेक्चर देने वाला पाकिस्तान आखिरी देश होना चाहिए.’

दरअसल इमरान खान ने एक बार फिर अल्पसंख्यकों के मुद्दे पर अपने देश की भारत से तुलना की थी. मंगलवार पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की जयंती के मौके पर उन्होंने कहा था कि भारत में जो हो रहा है उसकी तुलना में ‘नए पाकिस्तान’ में अल्पसंख्यकों को बराबरी का दर्जा मिलेगा. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने ट्वीट करते हुए कहा, ‘नया पाकिस्तान कायद (जिन्ना) का पाकिस्तान होगा और सुनिश्चित करेगा कि हमारे अल्पसंख्यकों के साथ बराबरी का व्यवहार हो और भारत जैसा कुछ न हो.’