‘आप कुछ भी कर लें गलती हमेशा मुसलमानों की ही मानी जाएगी.’  

— असदुद्दीन आवैसी, ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख

असदुद्दीन ओवैसी ने यह बात उत्तर प्रदेश में नोएडा के एक पार्क में नमाज पढ़ने को लेकर लगी रोक पर एक ट्वीट के जरिये कही है. इसी ट्वीट में उन्होंने यह भी लिखा है, ‘कांवड़ियों पर ​फूल बरसाने वाली उत्तर प्रदेश पुलिस को लगता है कि हफ्ते में एक बार पार्क में नमाज पढ़ लेने से शांति और सौहार्द बिगड़ जाएगा.’ इससे पहले स्थानीय लोगों से मिली शिकायत के आधार पर मंगलवार को स्थानीय पुलिस ने नोएडा के एक पार्क में जुमे (शुक्रवार) की नमाज पढ़ने पर रोक लगा दी थी.

‘तीसरे मोर्चे के गठन को लेकर मैं चंद्रशेखर राव से मिलने तेलंगाना जाऊंगा.’  

— अखिलेश यादव, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष

अखिलेश यादव का यह बयान तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के प्रमुख चंद्रशेखर राव द्वारा आगामी आम चुनाव के मद्देजनर तीसरे मोर्चे के गठन के प्रयासों पर आया है. उनके मुताबिक, चंद्रशेखर राव चाहते हैं कि क्षेत्रीय दलों का संघीय मोर्चा बने, इसके लिए मैं उनसे मिलने तेलंगाना जाऊंगा.’ इससे पहले मध्य प्रदेश में कांग्रेस के नेतृत्व वाली प्रदेश सरकार में समाजवादी पार्टी (सपा) के विधायक को मंत्रिमंडल में शामिल न किए जाने पर अखिलेश यादव ने नाराजगी जाहिर की थी. इस पर उन्होंने कहा था, ‘ऐसा करके कांग्रेस ने समाजवादियों का रास्‍ता साफ कर दिया है.’


‘लोग भूल गए कि बोगीबील पुल परियोजना के निर्माण को मैंने ही मंजूरी दी थी.’  

— एचडी देवेगौड़ा, पूर्व प्रधानमंत्री

एचडी देवेगौड़ा ने यह बात बोगीबील पुल के उद्घाटन मौके पर खुद को निमंत्रित न किए जाने को लेकर निराशा जताते हुए कही है. बेंगलुरु में पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा, ‘सिर्फ बोगीबील पु​ल ही नहीं बल्कि कश्मीर के लिए रेलवे लाइन, दिल्ली मेट्रो जैसी परियोजनाओं को भी मैंने ही प्रधानमंत्री रहते हुए मंजूर किया था. इसके साथ ही हर परियोजना के लिए तब मैंने 100-100 करोड़ रुपये का आवंटन भी किया था. लेकिन उन बातों को आज लोग भूल गए.’


‘रामलला का मामला शीर्ष अदालत में पिछले दस सालों से क्यों लटका हुआ है?’  

— रविशंकर प्रसाद, केंद्रीय कानून मंत्री

रविशंकर प्रसाद ने यह बात सवालिया लहजे में एक कार्यक्रम के दौरान कही. इस मौके पर उन्होंने आगे कहा कि सबरीमला और समलैंगिकता के अलावा अर्बन नक्सल जैसे मामलों पर सुप्रीम कोर्ट ने जल्द सुनवाई करके अपना फैसला सुना दिया. लेकिन जब राम मंदिर-बाबरी मस्जिद की बारी आती है तो उसमें देर होती है. इस मौके पर रविशंकर प्रसाद ने इस मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक तौर पर किए जाने की भी मांग की है.


‘मोदी जी, बुलेट ट्रेन भूल जाइए और जो ट्रेनें पहले से चल रही हैं उन पर ध्यान दीजिए.’  

— लक्ष्मीकांता चावला, भारतीय जनता पार्टी की नेता

लक्ष्मीकांता चावला ने यह बात परेशानियों भरी एक रेल यात्रा का अनुभव करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रेल मंत्री पीयूष गोयल से अपील करते हुए कही है. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की नेता का यह भी कहना है कि देरी से चलने वाली ट्रेनों में यात्रियों के खान-पान, प्लेटफॉर्मों पर ट्रेन का इंतजार करने वालों की सुविधाओं पर सरकार को ध्यान देना चाहिए. इससे पहले इसी महीने लक्ष्मीकांता चावला ने सरयू-यमुना ट्रेन के जरिये अमृतसर से अयोध्या की यात्रा की थी और वह ट्रेन तय समय से दस घंटे की देरी से चली थी.