पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह के कार्यकाल पर बनी फिल्म ‘द ऐक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ को लेकर राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोपों का सिलसिला जारी है. शुक्रवार को भाजपा पर निशाना साधते हुए राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के सांसद मनोज झा ने आरोप लगाया कि पार्टी ने इस फिल्म के लिए अपना खजाना खोल दिया. इसके साथ ही भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र सरकार को घेरते हुए उनका यह भी कहना है कि रफाल जेट विमान सौदे में कथित अनियमितताओं, नोटबंदी और किसानों की आत्महत्या पर भी फिल्में बनाई जानी चाहिए.

मनोज झा राजद के प्रवक्ता भी हैं. उन्होंने इस फिल्म को लेकर आगे कहा है, ‘यह फिल्म आकस्मिक नहीं है. मैंने यह पहली बार देखा है कि किसी दल का ट्विटर हैंडल इसका प्रचार कर रहा है.’ उन्होंने आगे कहा, ‘रफाल, नोटबंदी, जीएसटी, किसानों की आत्महत्या और नीरव मोदी, विजय (माल्या) भाई, मेहुल भाई पर फिल्में क्यों नहीं बने?’

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार रहे संजय बारु की पुस्तक पर आधारित फिल्म ‘द ऐक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ का ट्रेलर गुरुवार को जारी किया गया था. इस ट्रेलर में मनमोहन सिंह को 2014 के आम चुनाव से पहले कांग्रेस की अंदरूनी राजनीति के पीड़ित के रूप में दिखाया गया है.