अमेरिका द्वारा सीरिया से अपनी सेना को वापस बुलाने के आदेश के बाद वहां की सरकार कुर्दों का साथ देने के लिए आगे आ गई है. खबरों के मुताबिक शुक्रवार को सीरिया की सेना कुर्द लड़ाकों का सहयोग करने के लिए देश के उत्तरी शहर मनबिज पहुंच गई.

ब्रिटेन के समाचार पत्र द गार्डियन के मुताबिक शुक्रवार को सीरियाई सेना के एक प्रवक्ता ने मीडिया को यह जानकारी दी है. प्रवक्ता ने कहा, ‘आज सीरिया की सेना छह सालों के बाद उत्तरी सीमाई शहर मनबिज में दाखिल हो गई. उसने मनबिज में राष्ट्रध्वज भी फहरा दिया है.’

बीते हफ्ते अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अचानक सीरिया से अपने सैनिकों को वापस बुलाने का आदेश दे दिया था. यह खबर सीरिया में लड़ रहे कुर्द लड़ाकों के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं थी. कुर्द लड़ाके लंबे समय से मनबिज सहित उत्तरी सीरिया के कई शहरों में अमेरिका के साथ मिलकर आईएस का मुकाबला कर रहे हैं.

सीरियाई शहर मनबिज तुर्की की सीमा से सटा हुआ है. ऐसे में कुर्दों को सबसे बड़ा डर तुर्की का है, जो अपने पड़ोस में कुर्दों की उपस्थिति नहीं चाहता. वह किसी भी तरह कुर्दों को मनबिज से हटाना चाहता है. तुर्की कह चुका है कि अमेरिकी सेना के मनबिज से जाते ही वह कुर्द लड़ाकों पर धावा बोल देगा.

बीते हफ्ते तुर्की की इस चेतावनी के बाद कुर्दों ने सीरियाई सरकार से तुर्की के संभावित हमले से निपटने के लिये मदद मांगी थी. सीरिया में कुर्दों के प्रमुख संगठन कुर्दिश मिलीशिया पीपुल्स प्रोटेक्शन यूनिट्स (वाईपीजी) ने अपील की थी कि सरकार मनबिज में उसके साथ आकर इस क्षेत्र को तुर्की और आईएस के हमलों से बचाए.