हैदराबाद में एक आईपीएस (भारतीय पुलिस सेवा) अफसर मधुकर शेट्‌टी की स्वाइन फ्लू से मौत हो गई है. उन्हें एक सप्ताह पहले शहर के कॉन्टिनेंटल अस्पताल में दाख़िल कराया गया था. यहीं उन्हाेंने शुक्रवार रात इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. उनकी उम्र 47 साल थी.

मधुकर शेट्‌टी 1999 बैच के कर्नाटक कैडर के आईपीएस अधिकारी थे. वे कर्नाटक के उडुपी जिले से ताल्लुक़ रखते थे. उनके पिता वी रघुराम शेट्‌टी जाने-माने पत्रकार रहे हैं. मधुकर शेट्‌टी ने ख़ुद भी कर्नाटक में अवैध खनन मामले की लोकायुक्त जांच में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. उन्होंने सामाजिक विज्ञान में दिल्ली की जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी से स्नातकोत्तर की डिग्री ली थी.

बीमारी से पहले तक मधुकर कर्नाटक के चिकमगलुरु जिले के पुलिस अधीक्षक थे. यहां उन्होंने जनसमर्थक अधिकारी की ख्याति अर्जित की थी. जिले के कलेक्टर हर्ष गुप्ता के साथ मिलकर उन्होंने सरकारी ज़मीन को अतिक्रमण मुक्त कराने के लिए विशेष अभियान चलाया था. बाद में यह ज़मीन अनुसूचित जाति वर्ग के भूमिहीनों को दे दी गई. इस ज़मीन को लाभार्थियाें ने गुप्ता-शेट्‌टी हल्ली नाम दिया था.