मेघालय की एक कोयला खदान में करीब तीन हफ्तों से फंसे 13 खनिक कर्मियों को बचाने का काम अभी भी जारी है. इस बचाव अभियान में लगे लोगों को आज सुबह तीन खनिक कर्मचारियों के हेलमेट मिले. न्यूज एजेंसी एएनआई ने इनकी तस्वीर शेयर की है. एक अन्य जानकारी के मुताबिक इन लोगों को बचाने के अभियान में आज भारतीय नौसेना भी शामिल होगी.

खबर के मुताबिक शुक्रवार को नौसेना के प्रवक्ता ने एक ट्वीट में कहा कि आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम से 15 गोताखोरों की टीम शनिवार को मेघालय के पूर्वी जयंतिया जिले के लुम्थारी गांव पहुंचेगी. ट्वीट में प्रवक्ता ने कहा, ‘यह टीम विशेष रूप से डाइविंग उपकरण ले जा रही है. इसमें पानी के अंदर खोज करने में रिमोट संचालित वाहन शामिल हैं.’

उधर, इस बचाव अभियान के लिए पंप निर्माता कंपनी किर्लोस्कर ब्रदर्स लिमिटेड और कोल इंडिया ने शुक्रवार को 18 हाई पावर पंप रवाना किए हैं. खबरों के मुताबिक इनमें से दस पंपों को वायुसेना की मदद से खदान वाली जगह पर पहुंचाया गया है. इस बीच मिली एक और जानकारी के मुताबिक ओडिशा दमकल सेवा की 20 सदस्यीय टीम उपकरणों के साथ शुक्रवार को ही मेघालय के लिए रवाना हो गई. इनमें हाई पावर पंप और तलाशी व बचाव अभियान में मददगार कई हाई टेक उपकरण व गैजेट शामिल हैं.