कांग्रेस के महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा है कि उनकी पार्टी मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण (तीन तलाक) विधेयक को राज्यसभा में पारित नहीं होने देगी. द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक शनिवार को कोच्चि में पत्रकारों से बातचीत करते हुए केसी वेणुगोपाल ने इस विधेयक के जरिये सिविल मामलों को अपराध की श्रेणी में रखने को गलत बताया. उन्होंने यह भी कहा, ‘मौजूदा स्वरूप में कांग्रेस को यह विधेयक मंजूर नहीं है.’

वेणुगोपाल ने आगे कहा, ‘जब लोकसभा में यह विधेयक रखा गया था तो उस वक्त भी दस दलों ने इस पर अपना विरोध जताया था. राज्यसभा में यह विधेयक गिर जाए इसके लिए कांग्रेस इसका विरोध करने वाले दलों का साथ देगी. कांग्रेस समझती है कि मौजूदा स्वरूप के इस विधेयक से मुस्लिम महिलाओं का कोई भला होने वाला नहीं है.’

इससे पहले इसी गुरुवार को तीन तलाक विधेयक लोकसभा में पारित हुआ था. तब इसे लेकर सदन में कराई गई वोटिंग के दौरान इसके पक्ष में 245 जबकि विपक्ष में 11 वोट पड़े थे. उस दौरान भी कांग्रेस ने इस विधेयक को प्रवर समिति के पास भेजे जाने की मांग की थी. संबंधित मांग अस्वीकार होने पर कांग्रेस के सांसद वोटिंग से पहले सदन से वॉकआउट कर गए थे. इधर, अब 31 दिसंबर को यह विधेयक राज्यसभा में पेश होना है. खबरों के मुताबिक राज्यसभा में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) का संख्याबल कम होने से इसे पारित कराने में सरकार को दिक्कतें पेश आ सकती हैं.