‘पश्चिम बंगाल के किसानों के फसल बीमा का प्रीमियम राज्य सरकार भरेगी.’  

— ममता बनर्जी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री

ममता बनर्जी ने यह बात राज्य के किसानों के लिए कृषक बंधु योजना की घोषणा करते हुए कही. उन्होंने आगे कहा, ‘किसानों के हित के लिए राज्य सरकार की तरफ से दो योजनाएं शुरू की जा रही हैं. इनके तहत अब फसल बीमा के प्रीमियम का बोझ किसानों पर नहीं पड़ेगा. साथ ही राज्य सरकार की तरफ से प्रदेश के किसानों को उनकी प्रति एकड़ जमीन पर पांच हजार रुपये सालाना की मदद भी की जाएगी.’ ममता बनर्जी ने आगे कहा, ‘18 से 60 साल की उम्र में किसी किसान की मौत हो जाती है तो उसके परिवार को सरकार की तरफ से दो लाख रुपये की सहायता भी दी जाएगी.’

‘नरेंद्र मोदी पहले किसी पर केस थोपते हैं. फिर उसे बरी करवाते हैं. उसके बाद वे उस व्यक्ति को ब्लैकमेल करते हैं’ 

— चंद्रबाबू नायडू, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने यह बात प्रदेश की राजधानी अमरावती में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कही. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाते हुए उनका यह भी कहना था, ‘सीबीआई के प्रमुख ने मुझे ख़ुद बताया है कि राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के प्रमुख लालू प्रसाद यादव के ख़िलाफ़ मामला नरेंद्र मोदी ने दर्ज़ कराया है. ऐसे ही उन्होंने तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (केसीआर) को भ्रष्टाचार के एक मामले में बरी करवाया है.’


‘मैं जब तक जिंदा रहूंगी,  भारतीय जनता पार्टी में कभी वापसी नहीं करूंगी.’ 

— सावित्री बाई फुले, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की पूर्व नेता

सावित्री बाई फुले का यह बयान उनके समाजवादी पार्टी (सपा) के साथ शामिल होने की लग रही अटकलों पर विराम लगाते हुए आया है. उन्होंने आगे कहा कि फिलहाल किसी राजनीतिक संगठन के साथ उनके जुड़ने की कोई योजना नहीं है. सावित्री बाई फुले के मुताबिक, ‘2019 के आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को हराने के लिए मैं कुछ भी करने को तैयार हूं. यहां तक कि इसके लिए मैं महागठबंधन को भी अपना समर्थन देने को राजी हूं.’


‘सोनिया और राहुल गांधी ने कभी किसी रक्षा सौदे में कोई हस्तक्षेप नहीं किया.’  

— एके एंटनी, पूर्व रक्षा मंत्री

एके एंटनी का यह बयान अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदा मामले में कांग्रेस के नेताओं सोनिया गांधी और राहुल गांधी का बचाव करते हुए आया है. उन्होंने आगे कहा कि पार्टी के इन दोनों नेताओं ने कभी किसी रक्षा सौदे में कोई दिलचस्पी तक नहीं दिखाई है. एके एंटनी के मुताबिक केंद्र की मौजूदा सरकार अगस्ता वेस्टलैंड सौदे में झूठ गढ़ने के लिए सरकारी एजेंसियों का ‘दुरुपयोग’ कर रही है.