गुजरात सरकार ने स्कूलों के लिए एक नया आदेश जारी किया है. यह एक जनवरी से लागू भी हो गया है. इस आदेश के मुताबिक स्कूलों में रोल कॉल (प्रार्थना, छुट्‌टी या उपस्थिति दर्ज़ कराते समय) के वक़्त नाम बुलाने पर अब बच्चे ‘जय हिंद’ या ‘जय भारत’ कहेंगे.

ख़बरों के अनुसार गुजरात सेकेंडरी एवं हायर सेकेंडरी एजुकेशन बोर्ड और प्राथमिक शिक्षा निदेशक ने यह आदेश जारी किया है. इसमें कहा गया है, ‘बच्चों में छोटी उम्र से ही राष्ट्रवाद की भावना के संचार के लिए सभी सरकारी, निजी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों को निर्देशित किया जाता है कि वे यह सुनिश्चित करें कि बच्चे रोल कॉल के समय ‘जय हिंद’ या ‘जय भारत’ कहें.’

अधिकारियाें के अनुसार यह फ़ैसला जालोर, राजस्थान के इतिहास के शिक्षक संदीप जोशी से प्रेरित है. उन्हें हाल ही में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने अहमदाबाद में यशवंत राव केलकर पुरस्कार के सम्मानित किया है. उन्होंने अपने स्कूल में परंपरा डाली है कि बच्चे रोल कॉल में ‘जय हिंद’ या ‘जय भारत’ कहें. गुजरात के शिक्षा मंत्री भूपेंद्र सिंह चूड़ास्मा के अनुसार, ‘यह एक अच्छी पहल है. इसमें कुछ बुराई नहीं है. गुजरात के स्कूलों में पहले यही परंपरा रही है. बाद में भुला दी गई. इसे फिर शुरू किया जा रहा है.’