केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज किए जाने की मंजूरी दे दी है. द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक इस संबंध में गृह मंत्रालय ने अन्य केंद्रीय मंत्रालयों को एक चिट्ठी लिखी है. इसमें कहा गया है कि गृह मंत्रालय ने उत्तर प्रदेश सरकार के उस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है जिसमें उसने इलाहाबाद का नाम बदले जाने की मांग की थी.

केंद्र सरकार के एक अधिकरी के मुताबिक, ‘उत्तर प्रदेश के इस जिले का नाम बदले जाने को लेकर गृह मंत्रालय ने इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी), जियोग्राफिकल सर्वे ऑफ इंडिया (जीएसआई) और डिपार्टमेंट ऑफ पोस्ट एंड मिनिस्ट्री ऑफ अर्थ साइंसेज से रिपोर्ट मांगी थी. इन संस्थानों से मिली रिपोर्ट के आधार पर यह फैसला किया गया है.’

वहीं इस बारे में एक अन्य अधिकारी ने कहा है, ‘गृह मंत्रालय ने इलाहाबाद का नाम प्रयागराज करने को लेकर अपनी अनापत्ति दी है. लेकिन वहां के कई केंद्रीय संस्थान जैसे रेलवे स्टेशन, हाईकोर्ट, यूनिवर्सिटी वगैरह इलाहाबाद के नाम पर हैं. ऐसे में इनके नामों में बदलाव के लिए उत्तर प्रदेश सरकार को संबंधित केंद्रीय मंत्रालयों से मंजूरी हासिल करनी होगी.’

इससे पहले योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश सरकार ने बीते साल अक्टूबर में इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किए जाने संबंधी घोषणा की थी. इसके बाद प्रदेश सरकार ने केंद्र के पास संबंधित प्रस्ताव भेजा गया था.

उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद जिले का नाम बदले जाने के अलावा केंद्र ने बीते दिनों राज्य में ही मुगल सराय रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर दीन दयाल उपाध्याय किए जाने को मंजूरी दी थी. इसके अलावा रॉबटर्सगंज रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर सोनभद्र किया गया था.