चार जनवरी का दिन इतिहास में दो महान व्यक्तियों के नाम के साथ जुड़ा है. 1809 में इसी दिन फ़्रांस के महान शिक्षाविद् लुई ब्रेल का जन्म हुआ था, जिन्होंने एक ऐसी लिपि का आविष्कार किया था, जो नेत्रहीनों को शिक्षा का उजाला देने का जरिया बनी. तीन साल की उम्र में एक दुर्घटना में अपनी आंखों की रौशनी खो दी थी. उन्हीं के नाम पर इसे ब्रेल लिपि का नाम दिया गया.

वहीं, चार जनवरी, 1643 की तारीख इतिहास में इंग्लैंड के महान वैज्ञानिक सर आइजैक न्यूटन की जन्मतिथि के रूप में भी दर्ज है. गुरुत्वाकर्षण का नियम और गति के सिद्धांत का प्रतिपादन करने वाले महान गणितज्ञ, भौतिक वैज्ञानिक, ज्योतिष एवं दार्शनिक सर न्यूटन को आधुनिक भौतिक विज्ञान के जनक का दर्जा दिया जाता है.

देश-दुनिया के इतिहास में चार जनवरी की तारीख पर दर्ज अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है:

1948 : दक्षिण पूर्व एशियाई देश बर्मा (म्यांमार) को ब्रिटेन से आजादी मिली.

1958 : न्यूजीलैंड के सर एडमंड हिलेरी ने दक्षिणी ध्रुव पर कदम रखा. 1912 में कैप्टेन रॉबर्ट एफ़ स्कॉट के अभियान के बाद वे पहले अन्वेषक थे, जिन्होंने यह उपलब्धि हासिल की. हिलेरी ने अपनी टीम के साथ खराब मौसम में करीब 113 किलोमीटर की यात्रा की.

1972 : विभिन्न अपराधों की जांच को बेहतर और आधुनिक तरीके से अंजाम देने के लिए नई दिल्ली में इंस्टिट्यूट ऑफ क्रिमिनालॅजी एंड फारेंसिक साइंस की स्थापना हुई.

1990 : पाकिस्तान में रेल दुर्घटना के इतिहास की सबसे दुखद घटना में दो ट्रेनों के बीच भीषण टक्कर में 307 लोगों की मौत और बहुत से लोग घायल हुए.

2007 : अमेरिका में नैंसी पेलोसी को हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव का स्पीकर चुना गया. इस पद पर पहुंचने वाली वह पहली महिला थीं.

2010 : संयुक्त अरब अमीरात के दुबई स्थित बुर्ज खलीफा को आधिकारिक तौर पर खोला गया. इसे उस समय दुनिया की सबसे ऊंची इमारत कहा गया था.