प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मनी लॉन्डरिंग के एक मामले में सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा के कथित तौर पर करीबी सहायक के खिलाफ गैर-जमानती वॉरंट करने के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाया है. इस कथित करीबी का नाम मनोज अरोड़ा बताया जा रहा है.

पीटीआई की खबर के मुताबिक एजेंसी ने आज अदालत से कहा कि बार-बार समन जारी किए जाने के बावजूद मनोज अरोड़ा पूछताछ के लिए उपस्थित होने में विफल रहे हैं. ईडी ने दावा किया कि अरोड़ा कथित मनी लॉन्डरिंग के मामले में महत्वपूर्ण व्यक्ति हैं. जांच के मुताबिक मनोज को विदेशों में वाड्रा की अघोषित संपत्तियों की जानकारी है और इस तरह की संपत्तियों के लिए धन की व्यवस्था करने में उसने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.

इससे पहले ईडी ने रॉबर्ट वाड्रा के एक और कथित करीबी जगदीश शर्मा से पूछताछ की थी. खबरों के मुताबिक ईडी ने मनोज अरोड़ा के बारे में जानकारी जुटाने के लिए जगदीश शर्मा से पूछताछ की थी. दैनिक जागरण के मुताबिक जगदीश शर्मा ने ईडी को बताया था कि वे अरोड़ा को जानते हैं, लेकिन फिलहाल उन्हें (जगदीश शर्मा) लेकर कोई जानकारी नहीं है.