गोवा प्रदेश कांग्रेस समिति ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखकर राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को अतिरिक्त सुरक्षा देने की मांग की है. इस पत्र में दलील दी गई है कि रफाल सौदे में कथित अनियमितताओं के चलते उनकी जान को खतरा है. कांग्रेस ने इस पत्र में दावा किया है कि पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के ‘बेडरूम में रफाल सौदे से जुड़ी फाइलें’ रखी हुई हैं इसलिए उनकी सुरक्षा बढ़ाए जाने की जरूरत है. राष्ट्रपति को लिखे इस पत्र में कांग्रेस ने कहा है, ‘जो लोग यह नहीं चाहते कि रफाल सौदे से जुड़ी जानकारियां सार्वजनिक हों और इसमें भ्रष्टाचार की बात साबित हो, वे उनकी (पर्रिकर) जान लेने की कोशिश कर सकते हैं.’

बुधवार को कांग्रेस ने एक ऑडियो क्लिप मीडिया के सामने रखा था. पार्टी ने दावा किया था कि इसमें गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे और एक अनजान व्यक्ति के बीच की बातचीत रिकॉर्ड है. इसमें कथित रूप से राणे कह रहे हैं कि गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने पिछले हफ्ते कैबिनेट की बैठक में कहा था कि रफाल विमान सौदे से जुड़े सभी दस्तावेज उनके बेडरूम में हैं. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह ऑडियो क्लिप जारी करते हुए मोदी सरकार से यह भी पूछा था कि क्या इसी वजह से वह रफाल सौदे की जांच संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से कराने का आदेश नहीं दे रही है. हालांकि पर्रिकर ने उसी दिन इस ऑडियो क्लिप को खारिज कर दिया था. इसके साथ ही उनका कहना था कि कांग्रेस जबर्दस्ती सबूत गढ़ने की कोशिश कर रही है.

कांग्रेस केंद्र सरकार पर ऊंची कीमत पर रफाल सौदा करने का आरोप लगाती रही है. उसका आरोप है कि मोदी सरकार ने रक्षा क्षेत्र में अनुभवहीन कंपनी अनिल अंबानी की रिलायंस डिफेंस लिमिटेड को फायदा पहुंचाने के लिए उसे इस सौदे में शामिल किया है.