रेलवे एयरपोर्ट की ही तरह स्टेशनों पर भी ट्रेनों के तय प्रस्थान समय से कुछ समय पहले प्रवेश की अनुमति बंद करने की योजना बना रहा है. अगर यह योजना अमल में आई तो यात्रियों को सुरक्षा जांच की प्रक्रिया पूरी करने के लिए 15 से 20 मिनट पहले रेलवे स्टेशन पहुंचना होगा.

रेलवे सुरक्षा बल के महानिदेशक अरुण कुमार ने पीटीआई को बताया, ‘उच्च तकनीक वाली इस सुरक्षा योजना को इस महीने शुरू हो रहे कुंभ मेला के मद्देनजर इलाहाबाद में और कर्नाटक के हुबली रेलवे स्टेशन पर पहले से ही शुरू कर दिया गया है. साथ ही 202 रेलवे स्टेशनों पर योजना को लागू करने के लिए खाका तैयार कर लिया गया है.’ उन्होंने बताया, ‘योजना रेलवे स्टेशनों को सील करने की है. यह मुख्यत: प्रवेश बिंदुओं की पहचान करने और उनमें कितनों को बंद रखा जा सकता है यह निर्धारित करने के संबंध में है. कुछ इलाके हैं, जिन्हें स्थायी दीवारें बनाकर बंद कर दिया जाएगा, अन्य पर आरपीएफ कर्मियों की तैनाती होगी और उसके बाद बचे बिंदुओं पर बंद हो सकने वाले गेट होंगे.’

कुमार ने कहा, ‘प्रत्येक प्रवेश बिंदु पर आकस्मिक सुरक्षा जांच होगी. हवाई्अड्डों के उलट यात्रियों को घंटों पहले आने की जरूरत नहीं होगी बल्कि प्रस्थान समय से केवल 15-20 मिनट पहले आना होगा ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि सुरक्षा प्रक्रिया के चलते देरी न हो.’ हालांकि इसके लिए सुरक्षाकर्मियों की संख्या बढ़ाने की भी जरूरत होगी,लेकिन रेलवे सुरक्षा के महानिदेशक का कहना है कि सुरक्षा बढ़ाई जाएगी,सुरक्षाकर्मियों की संख्या नहीं.