भारतीय जनता पार्टी की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष राव साहेब दानवे ने दावा किया है कि लोक सभा चुनाव की तारीख़ें दो-तीन मार्च को घोषित होंगी. धुले में रविवार शाम पार्टी कार्यकर्ताओं से बात करते हुए उन्होंने यह दावा किया. इसके बाद वे विपक्षी दलों के निशाने पर आ गए हैं.

ख़बरों के अनुसार दानवे ने पार्टी कार्यकर्ताओं से चुनाव के लिए तैयार होने का आह्वान किया. हालांकि विपक्षी दलों ने दानवे के बयान को आड़े हाथ लिया है. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल ने कहा, ‘यह अचरज की बात की बात है कि सत्ताधारी पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष को पहले ही पता चल गया कि चुनाव तारीख़ें कब घोषित होने वाली हैं.’

वहीं कांग्रेस पार्टी की ओर से कहा गया कि भारत का निर्वाचन आयोग अब लगता है ‘भाजपा का निर्वाचन आयोग’ बन चुका है. साथ ही दानवे ‘चुनाव आयुक्त’ बन गए हैं. हालांकि भाजपा का इस पर कहना है कि दानवे जो कहा वह उनका अनुमान है. इसे उनका दावा नहीं मानना चाहिए. अलबत्ता ये इस तरह पहला विवाद नहीं है. इससे पहले पिछले साल मार्च में भाजपा के सूचना-तकनीक विभाग के प्रमुख अमित मालवीय ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव की तारीख़ें निर्वाचन आयोग की घोषणा से पहले सार्वजनिक कर दी थीं.