एमसी मैरीकॉम दुनिया की नंबर एक महिला मुक्केबाज़ (48 किलोग्राम वर्ग में) बन गई हैं. पेशेवर अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाज़ी संघ (एआईबीए) की ओर से जारी ताज़ा वरीयता सूची में मैरी कॉम को पहले-नबर पर रखा गया है. उनके अलावा भारत की ही पिंकी जांगड़ा 51 किलोग्राम वर्ग में दुनिया में आठवें नंबर पर पहुंच गई हैं.

ख़बरों के मुताबिक एआईएबीए की वरीयता सूची में मैरीकॉम को अपने वर्ग में 1,700 प्वाइंट मिले हैं. छठी बार महिला मुक्केबाज़ी की विश्व चैंपियनशिप में मिली जीत ने उन्हें यह उपलब्धि दिलाई है. उन्होंने पिछले साल नवंबर में 48 किलोग्राम वर्ग में यह चैपियनशिप जीती थी. वह प्रतिस्पर्धा नई दिल्ली में हुई थी.

हालांकि अब कहा यह भी जा रहा है कि मैरी कॉम को 2020 के ओलंपिक में 51किलोग्राम वर्ग में खेलना होगा. क्योंकि 48 किलोग्राम वाली श्रेणी खेलों के इस महाकुंभ अब तक शामिल नहीं की गई है. तीन बच्चों की मां मैरी कॉम ने 2018 में ही राष्ट्रमंडल खेलों और पोलैंड में हुए एक अन्य टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीता था. इसके अलावा उन्होंने बुल्गारिया के प्रतिष्ठित स्ट्रेंजा स्मृति टूर्नामेंट में रजत पदक हासिल किया था.